• कांग्रेस नेता नितिन भंसाली के शिकायत पर आबकारी विभाग में करोड़ों रुपयों के भ्रष्टाचार करने वाले समुद्र सिंह के ठिकानों पर तड़के सुबह ईओडब्ल्यू की छापेमारी
  • काशी तुम मंदिरों में होती थी कभी, सड़कों पर हो.. क्या देवता स्वर्ग लोक से लौटे हैं..!!!
  • भूपेश बघेल सरकार के 60 दिन के काम के आगे नही चली
  • श्रीलंका ब्लास्ट आई.एस.आई.एस. का अक्षम्य अपराध – रिजवी
  • पूर्व मुख्यमंत्री के दामाद डॉ. पुनीत गुप्ता डीकेएस अस्पताल घोटाला और ओएसडी अरूण बिसेन की पत्नि का वेतन घोटाला उजागर करने पर मुझ पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है : विकास तिवारी
  • जबलपुर लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी विवेक तनखा के पक्ष में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल लेंगे सभायें

भूपेश ने मोदी को आईंना भेजा..,

भूपेश ने मोदी को आईंना भेजा..,

नितिन राजीव सिन्हा//

आइना क्यूँ न दूँ..!!!
तमाशा कहूँ तुझे
हुलिया दुरुस्त है
तो अफ़साना कहूँ
तुझे..बेगाना है
तू जनता से क्या
हाल कहूँ,तुझे..!
चाय सी
तेरी कड़क जवानी
पर क्या हाल कहूँ
तुझे,चौकीदार कहूँ
या बरखुरदार कहूँ
तुझे..!!!

मुख्य मंत्री भूपेश बघेल ने चौकीदार नरेंद्र मोदी को आईना भेजा है और उनसे गुज़ारिश की है कि घर में ऐसी जगह पर लगाइएगा जहाँ से आप बार बार गुज़रते हों,ताकि शक्ल अपनी पहचान सकें, तात्पर्य यह कि जब सूरत अपनी ही पहचानी सी लगने लगे पर पहचान ख़ुद को ही न पायें,तब आईने भेंट किये जाते हैं सो उसी परंपरा को भूपेश ने आगे बढ़ाया है..,
देश की विडम्बना है कि उसने ग़रीब माँ का बेटा देखा,प्रधान सेवक देखा,चौकीदार देखा..,
पर,इन पाँच सालों में प्रधान मंत्री पद की गरिमा का ख़याल रख कर बर्ताव करने वाला सख्श नही देखा क्लाइमैक्स में वह रोता है,देश के बड़े नेताओं की खिल्ली उड़ाता है अपने भाषण को हारर शो बना देता है..,
अभिनय की जो विधा उन्हें आती है वह तो शायद ट्रेज़डी किंग दिलीप कुमार को भी न आती हो..,
इसलिये आइने भेज कर भूपेश ने देश के तरफ़ से कुछ सवाल खड़े किए हैं मसलन चाय की वह केतली कहाँ है जो आपकी पहचान बनी..? केवल जुमलों की क्यारी में फूल कब तक खिलाते रहेंगे..? ऐसे ही कुछ अनुत्तरित प्रश्न हैं जिनके जवाब देश और देश का आवाम चाहता है..,जिस पर लिखना होगा कि-

सवाल तेरी
ग़रीबी पर
है के नही
गर,सवाल ग़रीब
के रोज़ी रोटी
का है..,जवाब
दे या न दे
पर,खुदा
के वास्ते
सवाल
पर सवाल न
खड़े कर,बंदे..,

About Aaj Ka Din

Leave a reply translated

Translate »