• कांग्रेस नेता नितिन भंसाली के शिकायत पर आबकारी विभाग में करोड़ों रुपयों के भ्रष्टाचार करने वाले समुद्र सिंह के ठिकानों पर तड़के सुबह ईओडब्ल्यू की छापेमारी
  • काशी तुम मंदिरों में होती थी कभी, सड़कों पर हो.. क्या देवता स्वर्ग लोक से लौटे हैं..!!!
  • भूपेश बघेल सरकार के 60 दिन के काम के आगे नही चली
  • श्रीलंका ब्लास्ट आई.एस.आई.एस. का अक्षम्य अपराध – रिजवी
  • पूर्व मुख्यमंत्री के दामाद डॉ. पुनीत गुप्ता डीकेएस अस्पताल घोटाला और ओएसडी अरूण बिसेन की पत्नि का वेतन घोटाला उजागर करने पर मुझ पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है : विकास तिवारी
  • जबलपुर लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी विवेक तनखा के पक्ष में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल लेंगे सभायें

केजरीवाल पूर्ण राज्य के सबसे बड़े दुश्मन हैं – मनोज तिवारी

केजरीवाल पूर्ण राज्य के सबसे बड़े दुश्मन हैं – मनोज तिवारी

हम केजरीवाल से पूछना चाहते हैं कि दिल्ली में परिवहन व्यवस्था, प्रदूषण, सड़के, सीसीटीवी, बसों में मार्शल, महिला सुरक्षा, आयुष्मान भारत योजना और सवर्णों के लिए 10 प्रतिशत आरक्षण देने के लिए दिल्ली के पूर्ण राज्य होने की जरूरत नहीं है फिर आपने दिल्ली में इन योजनाओं को क्यों रोक रखा है – मनोज तिवारी

दिल्ली की जनता पूर्ण राज्य के मुद्दे पर केजरीवाल को साफ तौर पर नकार चुकी है और उसका परिणाम केजरीवाल का हार के डर से कांग्रेस के सामने गठबंधन के लिए गिड़गिड़ाना है – मनोज तिवारी

नई दिल्ली, 30 मार्च। दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष श्री मनोज तिवारी ने आज प्रदेश कार्यालय पर केजरीवाल द्वारा दिल्ली की जनता को पूर्ण राज्य के नाम पर गुमराह करने को लेकर प्रेस वार्ता की। इस प्रेस वार्ता में मीडिया प्रभारी श्री प्रत्युश कंठ, सह-प्रभारी श्री नीलकांत बक्शी और मीडिया प्रमुख श्री अशोक गोयल देवराह उपस्थित थे।

पत्रकारों को सम्बोधित करते हुये दिल्ली भाजपा अध्यक्ष श्री मनोज तिवारी ने कहा कि दिल्ली में पूर्ण राज्य के नाम पर दिल्ली की जनता को गुमराह किया जा रहा है। जनता से लगातार झूठ बोलकर केजरीवाल और आम आदमी पार्टी के नेता तुष्टिकरण राजनीति कर रहे है। दिल्ली पूर्ण राज्य बने इसकी समीक्षा होनी चाहिए। केजरीवाल ने गणतंत्र दिवस की परेड रोकने की कोशिश कर पूर्ण राज्य के सवाल पर प्रश्न चिह्न लगा दिया है। केजरीवाल पूर्ण राज्य के सबसे बड़े दुश्मन है।

श्री तिवारी ने कहा कि हम केजरीवाल से पूछना चाहते हैं कि दिल्ली में परिवहन व्यवस्था, प्रदूषण, सड़के, सीसीटीवी, बसों में मार्शल, महिला सुरक्षा, आयुष्मान भारत योजना और सवर्णों के लिए 10 प्रतिशत आरक्षण देने के लिए दिल्ली के पूर्ण राज्य होने की जरूरत नहीं है फिर आपने दिल्ली में इन योजनाओं को क्यों रोक रखा है।

श्री तिवारी ने कहा कि दिल्ली की जनता पूर्ण राज्य के मुद्दे पर केजरीवाल को साफ तौर पर नकार चुकी है और उसका परिणाम केजरीवाल का हार के डर से कांग्रेस के सामने गठबंधन के लिए गिड़गिड़ाना है। दिल्ली के मतदाता समझदार है और वो आगामी चुनावों में केजरीवाल के झूठ के खिलाफ आम आदमी पार्टी को करारा जवाब देने के लिए तैयार है।

About Aaj Ka Din

Leave a reply translated

Translate »