• अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर वन मंत्री मोहम्मद अकबर कवर्धा के योग कार्यक्रम में होंगे शामिल
  • क्या संजीव भट्ट को फर्जी मामलों में उम्र कैद हुई है..?
  • बुजुर्गो के साथ भाजयुमो ने मनाया रोशन का जन्मदिन
  • मुस्लिमों को मार रहा हैं चीन,मानव अंगो की कमी को पूरा करने के लिए चीनी जेलों में बंद कैदियों के शरीर का सहारा ले रही चीन
  • पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव कर रहे हैं विभागीय कार्यों की समीक्षा
  • कृषि स्थायी समिति की बैठक 26 जून को

8 साल में 50 करोड़ रुपये खर्च होने के बावजूद चिरमिरी की जनता को नही मिला एक गिलास भी पानी, विधानसभा में उठा सवाल

8 साल में 50 करोड़ रुपये खर्च होने के बावजूद चिरमिरी की जनता को नही मिला एक गिलास भी पानी, विधानसभा में उठा सवाल

अफ़सर अली

चिरमिरी जलआवर्धन योजना की लेट लतीफी पर विधायक डॉ. विनय ने विधानसभा में उठाया प्रश्न

पीएचई मंत्री रुद्र गुरु ने 3 माह के भीतर क्षेत्रवासियों को इस योजना का लाभ मिलने का दिया आश्वासन

चिरमिरी । विधानसभा सत्र के दौरान सदन में मनेंद्रगढ़ विधायक डॉ. विनय जायसवाल ने पिछले 8 वर्षों से चल रहे जल आवर्धन योजना पर प्रश्न उठाया। प्रश्न उठाते हुए विधायक डॉ. विनय ने सदन में कहा कि 35 करोड़ की इस योजना पर वर्तमान समय मे 54 करोड़ रुपये ख़र्च करने के बावजूद भी क्षेत्रवासियों को इस योजना का लाभ नही मिल पा रहा है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2017 में जल आवर्धन योजना की तिथि समाप्त होनी थी। लेकिन 35 करोड़ अनुमानित लागत से बढ़कर 54 करोड़ ख़र्च होने के बावजूद भी वर्तमान समय मे जनता को एक ग्लास पानी इस योजना से नही मिल सका। विधायक डॉ. विनय ने क्षेत्र में जल संकट पर गहरी चिंता जताते हुए कहा कि लगभग एक लाख आबादी वाला नगर पालिक निगम क्षेत्र इन दिनों पेयजल की समस्या से जूझ रहा है। जहाँ पिछले 15 वर्षों से पूर्व की भाजपा सरकार ने लगातार जनता से साथ छल करते हुए जल आवर्धन योजना को चालू नही करा सकी। जिससे क्षेत्र में शुद्ध पेयजल सहित निस्तारी जल संकट की स्थिति निर्मित हुई है।
विधायक डॉ.विनय के प्रश्न पर पीएचई मंत्री रुद्र गुरु ने आश्वासन देते हुए कहा कि कहा कि 25 लाख रुपये का बिजली ट्रांसफार्मर लगाते हुए 3 महीने के भीतर जल आवर्धन योजना को शुरू कर दिया जाएगा। उन्होंने सदन में कहा कि पेयजल के लिए किसी प्रकार की कोई दिक्कत न हो इसके लिए जलआवर्धन योजना के तहत सभी आवश्यक व्यवस्था सुनिश्चित कर ली गई है। सदन में बैठक के दौरान मंत्री ने कहा कि पेयजल के साथ कोई समझौता नहीं किया जाएगा। इसमें किसी प्रकार की लापरवाही बरतने पर अधिकारियों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी।

About VIDYANAND THAKUR

Leave a reply translated