• कांग्रेस नेता नितिन भंसाली के शिकायत पर आबकारी विभाग में करोड़ों रुपयों के भ्रष्टाचार करने वाले समुद्र सिंह के ठिकानों पर तड़के सुबह ईओडब्ल्यू की छापेमारी
  • काशी तुम मंदिरों में होती थी कभी, सड़कों पर हो.. क्या देवता स्वर्ग लोक से लौटे हैं..!!!
  • भूपेश बघेल सरकार के 60 दिन के काम के आगे नही चली
  • श्रीलंका ब्लास्ट आई.एस.आई.एस. का अक्षम्य अपराध – रिजवी
  • पूर्व मुख्यमंत्री के दामाद डॉ. पुनीत गुप्ता डीकेएस अस्पताल घोटाला और ओएसडी अरूण बिसेन की पत्नि का वेतन घोटाला उजागर करने पर मुझ पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है : विकास तिवारी
  • जबलपुर लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी विवेक तनखा के पक्ष में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल लेंगे सभायें

सामाजिक धार्मिक व व्यावसायिक क्षेत्र में छत्तीसगढ़ में प्रतिष्ठित नाम श्री महेन्द्र जी धाड़ीवाल रायपुर का संक्षिप्त परिचय

सामाजिक धार्मिक व व्यावसायिक क्षेत्र में छत्तीसगढ़ में प्रतिष्ठित नाम श्री महेन्द्र जी धाड़ीवाल रायपुर का संक्षिप्त परिचय

सभी क्षेत्रों में पकड़ के कारण लोगों के दिलों में करते हैं राज

रायपुर-रायपुर ही नहीं छत्तीसगढ़ में अपनी विशेष पहचान बना चुके महेंद्र जी धाड़ीवाल से आज का दिन ने विशेष चर्चा की।चर्चा के दौरान श्री धाड़ीवाल जी ने न सिर्फ अपने व्यावसायिक कार्यों पर प्रकाश डाला बल्कि सामाजिक एवं धार्मिक क्षेत्र में भी किये सेवा कार्यों पर चर्चा की।उक्त चर्चा के दौरान जो भी बातें सामने आयी उसमे अगर इन्हें रायपुर का नामचीन सख्सियत कहा जाए तो गलत नहीं होगा।

श्री महेंद्र जी धाड़ीवाल ने चर्चा के दौरान बताया कि उनके द्वारा सामाजिक,धार्मिक,व्यापारिक क्षेत्रों में काफी मेहनत कर कुछ बड़े कार्य भी किये गए जिसमें MMI हॉस्पिटल,महालक्ष्मी होलसेल कपड़ा मार्केट नवनिर्मित जैनम मानस समिति भवन का निर्माण मुख्य है।उपरोक्त निर्माण में सरकार,व्यापारी बंधू एवं समाजसेवियों का भरपूर सहयोग मिला एवं काफी मेहनत भी करना पड़ा।श्री धाड़ीवाल उनके द्वारा किये गए महत्वपूर्ण कार्यों के पीछे अपने पिता श्री स्व.मोतीलाल जी धाड़ीवाल का महत्वपूर्ण योगदान मानते हैं।वे स्वंय श्रेष्ठ समाजसेवी,राजनैतिक एवं पारिवारिक गुणों से संपन्न के साथ साथ साहस के धनी भी थे। उक्त कार्य में परिवार के सदस्यों का भी भरपूर सहयोग मिला।इसके अतिरिक्त उनके जीवन में सामाजिक एवं धार्मिक कार्यों में प्रेरणा देने वाले उनके मार्गदर्शक श्री रेखचन्द जी लुनिया का भी बहुत बड़ा हाथ होना मानते हैं।जिनके द्वारा सामाजिक व धार्मिक कार्यों के लिए उन्हें निरंतर प्रेरित किया गया और उन्हें रायपुर में आगे बढ़ाने में अपना अतुल्य योगदान भी दिया।श्री धाड़ीवाल ने बताया कि उनका जीवन अत्यंत ही संघर्षपूर्ण रहा है,उनके पिता स्व.मोतीलाल जी धाड़ीवाल लगभग 70-75 साल पूर्व राजस्थान से रायपुर में आये थे,जो एक व्यवसायी के यहाँ मामूली वेतन पर नोकरी कर अपने परिवार का जीवन यापन करते थे,कुछ वर्ष बाद कुछ रकम इकट्ठा कर उन्होंने अपना व्यवसाय प्रारम्भ किया,पूरी ईमानदारी,मेहनत व लगन के साथ साथ परिवार के लोगों के सहयोग से धीरे धीरे अपना व्यवसाय आगे बढ़ाते गए। आज छत्तीसगढ़ में मोतीलाल महेंद्र कुमार धाड़ीवाल फार्म प्रतिष्ठित बिजनेसमैन के रूप में अपना पहचान राज्य में बनाये हुवे हैं,उन्होंने अपने श्रम से मरूस्थल में भी फूल खिलाया है ऐसा हम कह सकते हैं।उन्ही की प्रेरणा से समाज के अंदर रहकर सामाजिक कार्यों को करने का साहस मुझे मिला।परिवार में उनके दो भाई,एक बहन,2 पुत्र,1 पुत्री,पोता पोती,नाती सहित खुशियों से लबरेज भरा-पूरा परिवार है।हमारी सफलता में गुरुओं एवं आचार्यों का आशीर्वाद सदा ही रहा है,उनकी कृपा से ही हम ऐसे कार्यों को करने में सक्षम बने हैं।

श्री महेंद्र धाड़ीवाल वर्तमान में व्यावसायिक सहकारिक बैंक के चेयरमेन-थोक कपड़ा व्यापारी संघ पंडरी रायपुर के अध्यक्ष,रायपुर के प्रसिद्ध MMI हॉस्पिटल के डायरेक्टर,जैनम मानस समिति के अध्यक्ष एवं जैन तेरापंथ महासभा के राष्ट्रीय संरक्षक के रूप में भी प्रतिष्ठित हैं।

सामाजिक विचार

श्री धाड़ीवाल ने बताया कि रायपुर में जैन समाज समाजसेवी कार्यों में अपना महत्वपूर्ण योगदान देता आया है।जिसके कारण छत्तीसगढ़ में अनेकों स्कूल, चिकित्सा केंद्र,सामाजिक भवन,धर्मशालाओं का निर्माण किया गया है।जिसका लाभ छत्तीसगढ़ के लोगों को मिलता रहता है।

उन्होंने विशेष रूप से उल्लेख करते हुवे कहा कि मेरी जानकारी के अनुसार एक अंग्रेज व्यक्ति ने लगभग 100 एकड़ जमीन सकरी ग्राम की गायों की रखरखाव व व्यवस्था के लिए दिया था और अपने देश वापस लौट गए।सरकार अगर चाहे तो ऐसे कार्यों के लिए समाज के साथ जुड़कर अच्छी व्यवस्था की जा सकती है।अगर ऐसा प्रस्ताव हमारे पास आता है तो हम शासन के साथ मिलकर उत्कृष्ट ढंग से गौशाला का संचालन करना चाहेंगे।

व्यवसायिक व राजनितिक विचार

श्री धाड़ीवाल ने व्यावसायिक व राजनितिक विचार व्यक्त करते हुवे कहा कि भाजपा के शासन काल में नोटबंदी का बहुत बुरा असर पड़ा है,और दूसरी मार जो व्यापारियों को झेलनी पड़ी व्व GST की आधी अधूरी तैयारी एवं अव्यवस्थित कार्यप्रणाली के कारण व्यापारी अधिकारी वकील सभी परेशान हुवे।इससे भी व्यापार बहुत प्रभावित हुवा।लगभग 25 से 30% व्यापार कम हुवा।आम जनता की खरीदने की क्षमता बहुत कम हो गयी,कई व्यापार मंदी एवं आर्थिक कमी के कारण आज तक उबर नहीं पाए हैं।छत्तीसगढ़ में लोहे का व्यापार,जमीन का व्यापार एकदम से बैठ गया है।सरकार को tax एवं पेपर वर्क कम हो ऐसी प्रणाली लानी चाहिए।व्यापारी कभी भी tax देने से नहीं भागता है।व्यापार करने की सुविधा बढे तो निश्चित रूप से व्यापार बढ़ेगा और शासन को बहुत ही अच्छा राजस्व प्राप्त होगा।

प्रश्न: छत्तीसगढ़ कांग्रेस सरकार से आपकी क्या अपेक्षा है,अभी तक के कार्यकाल में आपकी क्या राय है?

जवाब- इस प्रश्न के उत्तर में श्री धाड़ीवाल जी ने कहा कि छत्तीसगढ़ में काफी पढ़े लिखे बेरोजगार युवा हैं,शासन को उनके लिए सोचना चाहिए।किसानों को काफी मदद मिली है।खेती को भी राज्य में आमदनी का एक अच्छा जरिया कैसे बने,किसान कैसे सम्पन्न बने,हाई टेक्नोलोजी के लिए कार्य किया जाना चाहिए।अगर मजदूर का परिवार किसान का परिवार संपन्न होता है तो छत्तीसगढ़ अपने आप सम्पन्न हो जाएगा।महिलाओं की सुरक्षा व्यवस्था का प्रबंध पूरी जागरूकता से होना चाहिए।छत्तीसगढ़ में शिक्षा व चिकित्सा की व्यवस्था बहुत ही दयनीय है।ये दोनों विषयों पर काम करने की बहुत गुंजाइश है।ये दो विषयों पर वर्तमान सरकार कुछ कार्य कर पाती है तो अनेक समस्याओं का स्वतः ही समाधान हो जाएगा।नशाबन्दी की प्रेरणा आम जनता को सरकार के द्वारा देनी चाहिए,अभियान चलाकर नशामुक्ति के प्रति जागरूक करना चाहिए। इन विषयों पर सरकार कार्य करके अपने आप को सफल बना सकती है।

About Prashant Sahay

Leave a reply translated

Translate »