• एक्सक्लूसिव: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पाकिस्तान बिरयानी खाने नहीं दाऊद इब्राहिम से गठजोड़ करने गए थे,भाजपा के कई नेताओं का है संबंध दाऊद इब्राहिम से: अबु आसिम आजमी
  • पूर्ण चन्द्र पाढ़ी कोको के नेतृत्व में कल दिल्ली में जमा होंगे छत्तीसगढ़ के युवा कांग्रेसी
  • राहुल गांधी का मजाक उड़ाने का मामला: हरीश लकमा और कोको पाढ़ी के बीच हुई चैटिंग विवादों में, राहुल गांधी लईका है,कांग्रेस को बर्बाद कर दूंगा आदि शब्दों से मचा बवाल
  • हरीश लखमा और कोको पाढ़ी के बीच हुई चैटिंग विवादों में, राहुल गांधी को लेकर किया टिप्पणी से मचा बवाल
  • मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की माता श्रीमती बिंदेश्वरी बघेल का मेडिकल बुलेटिन जारी,अगला 36 घंटे काफी अहम्
  • बैकुंठपुर: चोरी के आरोपी समान सहित धराये

महापौर रेड्डी ने डीएव्ही मुख्यमंत्री पब्लिक स्कूल चिरमिरी में खोलने किया मॉंग

महापौर रेड्डी ने डीएव्ही मुख्यमंत्री पब्लिक स्कूल चिरमिरी में खोलने किया मॉंग

“अफ़सर अली”

सकरिया डीएव्ही तक संचालित स्कूल बसों के खर्च को सीएसआर मद से वहन करने कलेक्टर को लिखा पत्र

चिरमिरी । चिरमिरी में सर्वसुविधायुक्त बेहतर स्कूलों की कमी को देखते हुए चिरमिरी महापौर के. डोमरू रेड्डी ने मुख्यमंत्री छत्तीसगढ़ शासन भूपेश बघेल को पत्र लिख कर चिरमिरी में डीएव्ही मुख्यमंत्री पब्लिक स्कूल खोलने की मांग किया है। अपने पत्र के माध्यम से महापौर ने मुख्यमंत्री को अवगत करवाते हुए लिखा है कि चिरमिरी क्षेत्र में सर्वसुविधायुक्त स्कूलों की कमी के कारण ही यहां के छात्र चिरमिरी से बाहर जा कर शिक्षा ग्रहण कर रहें हैं क्योंकि एसईसीएल चिरमिरी क्षेत्र के द्वारा अपने अधिकारियों एवं कर्मचारियों के बच्चों के बेहतर शिक्षा के लिए प्रोजेक्ट स्कूल के नाम से बरतुंगा में डीएव्ही स्कूल एवं डोमनहिल में केंद्रीय विद्यालय का संचालन करवाया है, लेकिन वहां एसईसीएल के अधिकारी कर्मचारियों के बच्चों के प्रवेश के बाद ही गैरकालरी कोटे से आम नागरिकों के बच्चों का एडमिशन दिया जाता है जिनकी संख्या सीमित होने के कारण क्षेत्र की जनता प्रत्येक वर्ष सेशन के प्रारम्भ में प्रवेश को लेकर चिंतित नजर आती रहती है। जिससे क्षेत्र के छात्र – छात्राओं को बेहतर शिक्षा के लिए क्षेत्र के बाहर जाने को विवश होना पड़ रहा है।

चिरमिरी क्षेत्र में डीएव्ही स्कूल या ऐसे ही समकक्ष दर्जा वाले किसी भी उच्च शिक्षण संस्थान के स्कूलों की स्थापना के लिए यहां की जनता समय – समय पर मांग करते आ रही है। लेकिन शासन-प्रशासन की ओर से इस संदर्भ में ज़्यादा ध्यान नहीं दिया जा सका है। वहीं छत्तीसगढ़ शासन के द्वारा कई स्थानों में ग्रामीण बच्चों के बेहतर शिक्षा के लिए डीएव्ही मुख्यमंत्री पब्लिक स्कूल की स्थापना करवाई गई है जो कि सफल सिद्ध हुई। ठीक उसी तर्ज पर चिरमिरी में भी डीएव्ही मुख्यमंत्री पब्लिक स्कूल की स्थापना कर दी जाए तो क्षेत्र की जनता को शिक्षा के लिए एक नया अवसर प्राप्त होगा। फलस्वरूप पलायन की त्रासदी झेल रहे चिरमिरी के स्थाई बसाहट के लिए भी मार्ग प्रशस्त हो सकेगें।

इसके साथ ही महापौर चिरमिरी के. डोमरू रेड्डी द्वारा कलेक्टर कोरिया को भी पत्र लिख कर मांग किया है कि जिले के पोड़ी बचरा के सकरिया में संचालित डीएव्ही मुख्यमंत्री पब्लिक स्कूल के स्कूल बसों का चिरमिरी से सकरिया स्कूल तक आने-जाने का खर्च सीएसआर मद से वहन करने की मांग भी किया किया है। उन्होने पत्र में कहा है कि डीएव्ही मुख्यमंत्री पब्लिक स्कूल सकरिया के फीस के साथ स्कूल बसों का किराया अधिक होने के कारण चिरमिरी के बच्चे सकरिया स्कूल में प्रवेश लेने में असमर्थ हैं। यदि उक्त बसों के किराया को सीएसआर मद से वहन किया जाए तो चिरमिरी के बच्चे भी सकरिया स्कूल में दाखिला करा सकते हैं।

About Aaj Ka Din

Leave a reply translated