• खबर का असर-एक माह से अँधेरे में जीवन काट रहे लोगों की मिली रौशनी,ग्रामीणों ने कहा धन्यवाद आज का दिन
  • कर्नाटका बैंक ने बालाजी मेट्रो हास्पिटल को भेंट की एंबुलेंस,रायगढ़ विधायक प्रकाश नायक ने पूजा अर्चना कर किया लोकार्पण
  • अखिल छ ग चौहान कल्याण समिति के तत्वाधान में युवा जागृति सामाजिक जन चेतना मासिक सम्मलेन संपन्न
  • आई जी दुर्ग रेंज की पहल रंग लाने लगी,,,वीडियो कॉल द्वारा पुलिस को सुझाव आने लगा
  • महापौर रेड्डी ने डीएव्ही मुख्यमंत्री पब्लिक स्कूल चिरमिरी में खोलने किया मॉंग
  • हल्दीबाड़ी ग्रामीण बैंक के पास आज लगेगा रोजगार मेला

झगड़ालू औरत का रूप धरती राजनीतिक फ़िज़ा..,

झगड़ालू औरत का रूप धरती राजनीतिक फ़िज़ा..,

नितिन राजीव सिन्हा”
राहुल गांधी ने सैम पित्रोदा को कड़ी फटकार लगाई और सार्वजनिक मंच से कह दिया कि उन्हें इस तरह के शब्द इस्तेमाल करने पर शर्म आनी चाहिये..,
जिस पर मोदी ने राहुल से कह दिया है कि शर्म उन्हें आनी चाहिये जगज़ाहिर है कि राहुल ने जो कुछ बोला नहीं उस पर शर्म वे कैसे करें भला..,
१९८४ और २००२ ये देश के हिस्से के ऐसे घाव हैं जो कभी भरे नहीं जायेंगे लेकिन इतिहास का कलंक हमारा भविष्य बर्बाद करे ऐसा होने से पहले हमें एहतियात बरत लेना चाहिये..,
मोदी देश के प्रधानमंत्री हैं उन्हें नीतियों,कार्यक्रमों और योजनाओं पर बातें करनी चाहिये युवाओं को आश्वस्त करना चाहिए की देश उनके लिए अवसर लेकर आ रहा है किसी प्रधान मंत्री का इतना नकारा आवरण में क़ैद होना अचम्भित करता है काम की कोई बात नहीं सिर्फ़ झगड़ालू औरत की सी प्रवृत्ति ..,,
बहुत हुआ..?कांग्रेस कि माला जपने के बजाय भाजपा की बात करें और अपने नेताओ मसलन बाजपेई,दिनदयाल अथवा मुखर्जी -आडवाणी जैसों पर भी कभी बोल लिया जाना चाहिये आख़िर कब तक राजीव और नेहरु के पीछे लकीर पीटते रहेंगे ..? अपनी लकीर कब खिंचेंगे भला..!!! मौजूदा राजनीति पर लिखना होगा कि-
शब कट चुकी
थी,और सहर
का पता न था
होने में और
न होने में
कुछ फ़ासला
न था..,

About Aaj Ka Din

Leave a reply translated