• मादा चीतल की कुएं में गिरने से मौत,कुत्तों के झुंड के हमलों से बचने भागी थी
  • रेलवे लाइन क्रॉस करते हुए भालू की ट्रेन से कटकर मौत…,नागपुर रोड से बिश्रामपुर रेलवे लाइन के बीच दर्री टोला के पास उजियारपुर की घटना
  • प्रार्थी पर जानलेवा हमला के बाद, केल्हारी थाना प्रभारी पर आरोपी के ऊपर नरम रुख अख्तियार करने का आरोप
  • जांच नहीं होने देने रोकने, सत्य को छिपाने, सबूतों का दबाने का खेल छत्तीसगढ़ की ही तरह दिल्ली की सरकार में भी जारी है:-कांग्रेस
  • प्रशासन की लापरवाही से ग्रामीण दूषित पानी पीने को मजबूर, पूरा गांव चर्म रोग के शिकार
  • मिशन उराँव समाज के विरोध से कांग्रेस में घमासान,पार्टी की मुसीबतें कम होने का नाम ही नहीं ले रही

छुईखदान में फाग गीतों की धूमधाम प्रस्तुति

 राजनांदगांव, छुईखदान- फाल्गुन माह में रंगोत्सव पर्व की तैयारी में फाग गीतों का विशेष महत्व स्थान है। रानी मंदिर समिति के लल्ला जे.के.वैष्णव ने जानकारी दी की जय हनुमान दक्षिण मुखी रामायण एवं फाग मंडली बाजार लाईन छुईखदान द्वारा मंच में फाग गीतो का आयोजन बहुत ही रोचक एवं प्रशंसनीय रहा। फाग गीत वाद्य यंत्रों द्वारा सुमधुर प्रस्तुति मोहन कामड़े गुरूजी, सतीश महोबिया, गौकरण रजक, मुकेश तिवारी, शिव देवांगन, विष्णु देवांगन, अमर सिंह ठाकुर, कुशाल साहू, घनश्याम देवांगन, बुद्धु कुम्भकार, जितेन्द्र किशोर वैष्णव, पुरूषोत्तम देवांगन, नवीन साहू, लाल चन्द्र देवांगन, पप्पु देवांगन, विजय देवांगन, पवन ददरिया ने फाग गीत ‘‘झन जाबे राधा तरिया पार वो, चारो मुड़ा उड़त हे गुलाल हो’’
भोले बाबा दया के भंण्डार हवे न, ओखर जटा में गंगा के धार हवे न’’ आदि फाग गीत गायें। पारम्परिक फाग गायन के विविध रूप डहकी, डहका, दादरा, रासिया, घामार, ख्याल रस से भाव पूर्ण निर्गुण गीतो की पस्तुति नैना सलोना रे गणपति को गा रहे हैं।
जय महाकाली जस सेवा भजन फाग मंडली द्वारा ‘‘अरे हॉ नगर में दे दे बुलउवा, राधे को, राधे बिना होरी न होय कुंजन में आदि वृन्दावन होली से जुड़ी फाग गीतो के बोल की प्रस्तुति देवी साहू, केजु, गोवर्धन छेदयया, गोपाला यादव, भालू परदेसी निषाद, उदय देवांगन, पंचम साहू, अशोक चंदेल, प्रेमलाल चन्द्राकर, आंनद मंडावी, नारायण, माधव शास्वत दास, अमीलाल साहू, हीरा महोबिया, राघव, अनिल पुजारी रानी मंदिर, आदि ने फाग गीतो की प्रस्तुति द्वारा समस्त जमात मंदिर जगन्नाथ मंदिर, रानी मंदिर में फाग गीतों से मंत्र-मुग्ध कर दिया।

About Prashant Sahay

Leave a reply translated

Newsletter