• मादा चीतल की कुएं में गिरने से मौत,कुत्तों के झुंड के हमलों से बचने भागी थी
  • रेलवे लाइन क्रॉस करते हुए भालू की ट्रेन से कटकर मौत…,नागपुर रोड से बिश्रामपुर रेलवे लाइन के बीच दर्री टोला के पास उजियारपुर की घटना
  • प्रार्थी पर जानलेवा हमला के बाद, केल्हारी थाना प्रभारी पर आरोपी के ऊपर नरम रुख अख्तियार करने का आरोप
  • जांच नहीं होने देने रोकने, सत्य को छिपाने, सबूतों का दबाने का खेल छत्तीसगढ़ की ही तरह दिल्ली की सरकार में भी जारी है:-कांग्रेस
  • प्रशासन की लापरवाही से ग्रामीण दूषित पानी पीने को मजबूर, पूरा गांव चर्म रोग के शिकार
  • मिशन उराँव समाज के विरोध से कांग्रेस में घमासान,पार्टी की मुसीबतें कम होने का नाम ही नहीं ले रही

सुपर सीएम अमन कुमार सिंह के चहेते अफ़सर सुनील कुमार ने जम कर की देश-विदेश की यात्रा

सुपर सीएम अमन कुमार सिंह के चहेते अफ़सर सुनील कुमार ने जम कर की देश-विदेश की यात्रा

राजकुमार सोनी की रिपोर्ट//

रायपुर. भारतीय वन सेवा के अफसर और सुपर सीएम के सबसे चहेते अफसर सुनील मिश्रा ने छत्तीसगढ़ में औद्योगिक निवेश को आमंत्रित करने के नाम पर देश-विदेश की जमकर यात्राएं की है. हालांकि यात्रा में उनके साथ अन्य अफसर भी शामिल रहे हैं, लेकिन सीएसआईडीसी में पदस्थापना के दौरान अमूमन हर यात्रा में उनकी मौजूदगी रही है.

वर्ष 2014 से लेकर 2018 की अवधि तक सुनील मिश्रा ने कुल कितनी यात्राएं की इसका ब्यौरा विधानसभा में एक प्रश्न के उत्तर में दिया गया है. लोरमी के विधायक धर्मजीत सिंह के सवाल पर वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री ने बताया कि सुनील मिश्रा 6 अप्रैल से 13 अप्रैल तक चीन की यात्रा में थे. यहां उनके साथ भारतीय प्रशासनिक सेवा के अफसर सुबोध सिंह, कार्तिकेय गोयल और सीएसआईडीसी के कार्यपालन अभियंता एसके सोनी भी थे. सुनील मिश्रा 4 से 9 अक्टूबर 2016 में ताइवान में थे. यहां भी उनके साथ सुबोध सिंह थे. जबकि दिनांक 26 नवम्बर से 7 दिसम्बर 2016 तक यूएसए की यात्रा में भी उक्त अफसर शामिल थे. औद्योगिक निवेश को आमंत्रित करने के लिए वे 24 मई 2017 से 28 मई 2017 तक शेनझेन ( चीन ) हांगकांग और टोकियो गए थे और वहीं से वे ओसाका ( जापान ) और दक्षिण कोरिया सियोल निकल गए थे. दिनांक 14 से 24 जनवरी तक उन्होंने वाणिज्य एवं उद्योग विभाग के तत्कालीन सचिव कमलप्रीत सिंह, तत्कालीन उद्योग संचालक अलरमेल मंगई डी के साथ आस्ट्रेलिया की यात्रा की थी. निवेशकों को रिझाने के लिए वे कई बार बैंगलूरु, मुंबई, कोलकाता, नई दिल्ली, गोवा, अहमदाबाद, बेलगाम ( कर्नाटक ) भी गए.

सीएसआईडीसी में लंबे समय तक पदस्थ रहने का रिकार्ड बना चुके सुनील मिश्रा की कार्यप्रणाली हमेशा विवादित रही है. कई कारणों से उनकी हवाई यात्राएं भी सुर्खियां बटोरती रही है. उनका नाम चूल्हा कांड में जुड़ा था. सरकार ने हाल-फिलहाल उनकी सेवाएं वन विभाग को वापस लौटा दी गई है और अभी कोई महत्वपूर्ण जिम्मेदारी नहीं दी है. सीएसआईडीसी में पदस्थ एक अफसर ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि यात्राओं में 60 करोड़ 90 लाख रुपए फूंके गए मगर धुआंधार यात्राओं के बाद भी किसी निवेशक ने छत्तीसगढ़ का रुख नहीं किया.

About VIDYANAND THAKUR

Leave a reply translated

Newsletter