हरेली उत्सव पर बस्तामुक्त विद्यालय रुनियाडीह में किसान सम्मेलन आयोजित

news-details

शमरोज खान

सूरजपुर: - बस्तामुक्त विद्यालय माध्यमिक शाला रुनियाडीह में शासन की मंशानुरूप, जिला कलेक्टर दीपक सोनी के मार्गदर्शन एवं जिला शिक्षा अधिकारी आनन्द प्रकाश एक्का द्वारा दिए निर्देशों के परिपालन में हरेली त्यौहार का आयोजन किसान सम्मेलन के रूप में की गई। इस सम्मेलन के मुख्य अतिथि ग्राम रूनियाडीह के सरपंच श्रवण सिंह रहे, जबकि अध्यक्षता महासमुंद से आए शिक्षक व किसान मित्र मधु साहू एवं विशिष्ट आतिथ्य श्रीमती सरिता सिंह अध्यक्ष शाला प्रबंध समिति रुनियाडीह, बृजलाल सिंह ध्रुवेन्द्र प्रताप सिंह ग्राम सचिव द्वारा की गई। अतिथियों द्वारा सर्वप्रथम माँ सरस्वती व कृषि उपकरणो (हल, जुआ, अहराइ, हसुआ, अखाइन इत्यादि) का पूजन अर्चन कर चीला-रोटी, गुड, लड्डू व पीठा प्रसाद स्वरूप वितरित किया गया।ज्ञात हो कि संस्था के कृषि उपकरण संग्रहालय के उपकरणो की पूजा की गई। हरेली त्यौहार के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए संस्था प्रमुख सीमांचल त्रिपाठी ने बताया कि शासन चाहती है कि हम अपनी संस्कृति की जानकारी अपने बच्चों को दें ताकि हमारी संस्कृति सदैव विधमान रहे, फले-फुले, तरक्की करे। आज की पीढ़ी को संस्कृति को बताने की आवश्यकता है ताकि समाज को मजबूती दी जा सके। मधु साहू द्वारा किसानों को खेती करने, जमीन की उर्वरकता बढ़ाने, कृषि भूमि में पानी संधारित करने के उपाय, जैविक संसाधनों के प्रयोग, जैविक खेती करने के लाभ, उन्नत खेती के तरीको पर विस्तारपूर्वक चर्चा कर प्रत्यक्ष प्रदर्शन किया गया। किसान सम्मेलन में आयोजित खेलों में बच्चों के वर्ग में गेड़ी दौड़ में प्रथम-राहुल कुमार, द्वितीय- हंसलाल, तृतीय- पीयूष कुमार रहे तो वही विशेष पुरस्कार नरेंद्र कुमार को दिया गया।अभिभावकों के वर्ग में गेड़ी दौड़ में प्रथम- केंदु सिंह, द्वितीय- मुकुटमणि, तृतीय- बृजलाल रहे। इस दौरान बच्चों के द्वारा सुग्गा नृत्य की प्रस्तुति संजू एवं साथी तथा करमा नृत्य की प्रस्तुति कु0 ममता एवं साथियों द्वारा दी गई, जिसे सभी ने सराहा। अतिथियों द्वारा सफल प्रतिभागियों को पुरस्कृत किया गया। उपस्थित अभिभावको तथा बच्चों को हरेली त्योहार विशेष पर बरा, इडली, खीर, गुलगुला, चीला रोटी व छोला खिलाया गया। कार्यक्रम का समापन वृक्षारोपण के साथ किया गया। आज स्कूल के बाहर मैदान में गुलमोहर-05, जामुन- 05, मुनगा-02, सीताफल-01, अमरूद-05, आम-05 व नीम-05 नग पौधे रोपित किए गए। कार्यक्रम को सफल बनाने में श्रीमती एम0 टोप्पो,तिलेश्वरी राजवाड़े, विद्यावती सिंह, रिजवान अंसारी, ममता राजवाड़े, रजनी सिंह, रंजीत कुमार, नितिन सिंह व राबेन्द्र सिंह सक्रिय रहे।