logo

फ़ुटबाल प्रतियोगिता में जमकर मिल रहा लोगों का समर्थन,,,32 टीमों के बीच मचा है घमाशान

logo
news-details

असरफ खान (प्रतिनिधि)

मनोरा, जशपुर जिले में हाल के वर्षों में विभिन्न प्रतियोगिताओं में पुरस्कार के रूप में बकरा दिए जाने की परंपरा विकसित हो गई है। पुरस्कार में बकरा प्राप्त करने के लिए खिलाड़ी जद्दोजहद करते हैं इसके लिए खिलाड़ियों से लेकर दर्शकों में उत्साह देखने को मिलता है खेल के प्रारंभ से ही बकरे का अच्छा प्रचार प्रसार किया जाता है और बकरे को पोषक आहार देकर अधिक से अधिक तैयार किया जाता है शनिवार को मनोरा विकासखंड के ग्राम पंचायत टेम्पू में प्रति वर्ष की तरह इस वर्ष भी फुटबॉल प्रतियोगिता टूर्नामेंट का समापन था जिसमें खेल के प्रति खिलाड़ियों के खेल को बढ़ावा देने आयोजक जुटे थे जहां 32 टीमों ने हिस्सा लिया फाइनल मुकाबला शनिवार शाम खेला गया फाइनल मुकाबले में सीटोंगा और बुमतेल सरना टोली के बीच महा रोचक मुकाबला देखने को मिला जहां बकरा पाने के लिए टीमों में होड़ लगी हुई थी रोचक मुकाबले में सीटोंगा कि टीम ने 2.0 सरना टोली के विरोध गोल मारकर विजय हासिल कर ली विजयी टीम को प्रथम पुरस्कार के रूप में बड़ा बकरा स्थानीय बोली में खस्सी दिया गया साथ में 2000 का नगद पुरस्कार दिया गया वही उपविजेता टीम को छोटा बकरा खस्सी साथ में 1000 का नगद पुरस्कार दिया गया।

 

 मुख्य अतिथि के रूप में भाजपा प्रदेश युवा मोर्चा उपाध्यक्ष प्रबल प्रताप सिंह मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थे। वही विशिष्ट अतिथि के रुप में गोविन्द राम भगत, रामलाल भगत, राज कपूर भगत, मनोज भगत, अभिषेक मिश्रा, परमहंस, श्यामलाल भगत,* उपस्थित रहे। संयोजक नरेंद्र भगत एवं टेम्पू के पूरे सदस्य सहभागी रहे। इस अवसर पर प्रबल प्रताप सिंह जूदेव ने खिलाड़ियों को संबोधित करते हुए कहा कि खेल मैदान को बेहतर बनाने के लिए वह सांसद मद से प्रयास करेंगे और यहां की हर एक समस्या के प्रति वह सदैव तत्पर्य करेंगे उन्होंने जनजाति परंपरा की सराहना की और कहा कि खेल के माध्यम से गांव गांव के लोग एकजुट है इससे जहां स्वास्थ्य बेहतर होता है वही गांव में स्वास्थ्य मनोरंजन का भी यह एक माध्यम है। गांव पहुंचते प्रबल प्रताप सिंह जूदेव का ग्रामीणों ने भव्य स्वागत किया

logo

Related News

logo