logo

पत्रकारों को खरीदने के लिए मात्र ₹50 से 60 चाहिए: कंगना राणावत, कंगना ने कहा कि मुफ्त का खाना खाना,गाली-गलौच और गंदी बातें करके लोगों को बदनाम करना ही पत्रकारों काम है,

logo
news-details

मुंबई :फिल्म ‘जजमेंटल है क्या’ के सॉन्‍ग लॉन्‍च इवेंट में अभिनेत्री कंगना रनौत और पत्रकार जस्टिन राव के बीच हुई बहस का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। इस विवाद पर निर्माता एकता कपूर द्वारा लिखित में माफी मांगे जाने के बाद भी जर्नलिस्ट गिल्ड ऑफ इंडिया ने कंगना का बहिष्कार जारी रखने का फैसला किया है। इस मामले पर अभिनेत्री कंगना रनौत ने मीडिया पर फिर एकबार हमला बोला है। कंगना ने एक वर्ग विशेष के पत्रकारों पर निशाना साधते हुए कहा कि मैं हाथ जोड़कर तुम लोगों से अनुरोध करती हूं कि मुझे बैन करो क्‍योंकि मेरी वजह से तुम लोगों के घर पर चूल्‍हा जले ऐसा मैं नहीं चाहती। कंगना खुद किसी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर नहीं हैं लेकिन इंस्टाग्राम पर अभिनेत्री की आधिकारिक टीम ने एक वीडियो शेयर किया है जिसमें कंगना पत्रकारों को लताड़ते हुए नजर आ रही हैैं। बता दें कि इस पूरे वीडियो में कंगना ने एक विशेष वर्ग के पत्रकारों पर ही निशाना साधा है।

देश को दीमक की तरह खा रहा है मीडिया

वायरल हो रहे इस वीडियो की शुरुआत कंगना मीडिया के उन लोगों को धन्यवाद देते हुए करती है जो उनके खास दोस्त हैं और जिन्होंने उनकी सफलता में योगदान दिया है। इंडियन मीडिया के बारे में कंगना ने कहा कि कुछ अच्छे लोगों के साथ कुछ बुरे लोग भी होते हैं पर मीडिया का एक विशेष वर्ग ऐसा है जो दीमक की तरह देश को खा रहा है। उन्होंने बिना नाम लिए कहा कि मीडिया में कुछ लोग ऐसे हैं जो देश की गरिमा और स्मिता पर आये दिन हमला करते रहते हैं और झूठी अफवाहें फैलाते हैं। उन्होंने कहा कि ऐसे गंदे, भद्दे और देशद्रोह के विचार रखने वालों के लिए कोई सजा का प्रावधान नहीं है। इससे ठेस पहुंचती है।

देश की एकता पर करते हैं प्रहार

वीडियो में कंगना ने कहा कि खुद को पत्रकार बताने वाले ये तथाकथित लोग दोगले हैं, बिकाऊ हैं। उन्होंने कहा कि ऐसे लोग बिल्‍कुल भी धर्मनिरपेक्ष नहीं हैं, अगर ऐसा होता तो ये लोग हमेशा धार्मिक चीजों को लेकर देश की एकता पर हमेशा प्रहार नहीं करते। पत्रकार राव को बिना नाम लिए चिंदी बताते हुए अभिनेत्री ने कहा कि ये मेरे हर उस कदम का मजाक उड़ाता है जो देश के लिए एक गंभीर मुद्दा है। कंगना ने कहा कि मुफ्त का खाना खाना,गाली-गलौच और गंदी बातें करके लोगों को बदनाम करना ही इनका काम है।

पत्रकारिता का होना चाहिए मापदंड

कंगना ने कहा कि पत्रकारिता का मापदंड होना चाहिए। ऐसे लोगों के पास न तो कोई तर्क है और न तो कोई विचार जो एक पत्रकार का हक होता है। गिल्‍ड द्वारा बैन किए जाने को लेकर कंगना ने कहा कि, ‘3-4 लोगों ने मिलकर मेरे खिलाफ कोई गिल्‍ड बनाई है शायद कल ही बनाई है, न उसकी कोई मान्‍यता है न कोई धारणा। मुझे उस गिल्‍ड के जरिये धमकी देना शुरू कर दिया है कि मुझे बैन कर देंगे। मुझे कवर नहीं करेंगे। मेरा करियर बर्बाद कर देंगे।’

मूवी माफिया और सड़ा हुआ जर्नलिस्ट कहा

कंगना ने मीडिया को लताड़ लगाते हुए कहा कि ये लोग जिस थाली में खाते हैं उसी में छेद करते हैं। अभिनेत्री इतने पर ही नहीं रुकी बल्कि उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों को खरीदने के लिए बस 50-60 रुपये ही काफी हैं, इतने में ही ये लोग बिक जाते हैं। राव पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि, ‘अगर तुम जैसे मूवी माफिया और सड़े हुए जर्नलिस्ट की चलती तो आज मैं इंडिया की शीर्ष अभिनेत्रियों में नहीं होती।’

न्यूज़ एजेंसी