• खनन में काम करने वालों को सुरक्षा, सम्मान और उपचार की जरुरत: यू.एन.
  • पूर्व डीआरयूसीसी सदस्य विजय पटेल ने रेल प्रबंधक और डीआरएम को पत्र लिखकर बताया चिरमिरी मनेंद्रगढ़ सेक्शन की गंभीर समस्याएं
  • खानपान की स्वतंत्रता के साथ अंडों के पक्ष में है माकपा
  • 2018-19 का भवन आजतक निर्माण नही हो पाई तो सीईओ ने निर्देश दिया 30 जुलाई तक पूर्व नही हुआ तो सस्पेंड कर दिया जाएगा सचिव को
  • छोटा बाजार में हिन्दू सेना के महिला विंग की समीक्षा बैठक सम्पन्न
  • 8 सालो से आंगनबाड़ी केंद्र नही होने से घर पर ही बच्चों को सिखया जा रहा है
  • के बी पटेल नर्सिंग कॉलेज
  • nasir
  • halim
  • pawan
  • add hiru collage
  • add sarhul sarjiyus
  • add safdar hansraj
  • add harish u.d.
  • add education 01

IPL 2018, DD vs CSK: इस कारण चेन्नई सुपर किंग्स को मिली 34 रन से मात

IPL 2018, DD vs CSK: इस कारण चेन्नई सुपर किंग्स को मिली 34 रन से मात

नई दिल्ली: दिल्ली डेयर डेविल्स ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल)-11 में धुरंधरों से सुसज्जित चेन्नई सुपर किंग्स को 34 रन से हरा दिया. चेन्नई से पहले पहले बैटिंग का न्योता पाने के बाद दिल्ली डेयर डेविल्स ने आखिरी ओवरों में ऑलराउंडर विजय शंकर (नाबाद 36 रन,, 28 गेंद, 2 चौके, 2 छक्के) और हर्शल पटेल (नाबाद 36 रन,16 गेंद, 1 चौका, 4 छक्के) की तेज-तर्रार बल्लेबाजी की बदौलत चेन्नई सुपर किंग्स के सामने जीत के लिए 163 रन का लक्ष्य रखा.

जवाब में चेन्नई के सुपर सितारे अच्छी शुरुआत के बावजूद जरुरत के समय तेज बैटिंग करने में नाकाम रहे. और चेन्नई की टीम कोटे के 20 ओवरों में 6 विकेट पर 128 रन ही बना सकी. दिल्ली के लिए आखिरी ओवरों में धुआंधार बैटिंग करने वाले हर्शल पटेल को मैन ऑफ द मैच चुना गया, जिन्होंने एक विकेट भी चटकाया.
सितारे जमीं पर!
चेन्नई के लिए सबसे जरुरत के समय उसके सुपरस्टार रन बटोरने में नाकाम साबित हुए. कप्तान धोनी जहां 23 गेंदों पर 17 ही रना बना सके, तो सुरेश रैना ने 18 गेंदों पर 15 रन का योगदान दिया. ब्रावो और सैम बिलिंग्स भी नहीं चले. जडेजा ने 18 गेंदों पर नाबाद 27 रन बनाकर कोशिश की, लेकिन ऊंट के मुंह में जीरे जैसी ही थी. इस धीमे प्रयास का नतीजा यह रहा कि चेन्नई जीत से मीलों पीछे रह गया.
गजब रायुडु, गजब फॉर्म!
क्या कहने अंबाती रायुडु के! बॉलर स्पिनर हो या पेसर. फील्डर 30 गज के घेरे के बाहर हों, या अंदर, अंबाती रायुडु के बल्ले पर इसका कोई असर नहीं पड़ रहा है. जहां मर्जी होती है, वहां गेंदबाज को भेज देते हैं. करियर की सर्वश्रेष्ठ फॉर्म. इसका प्रदर्शन रायुडु ने फिर किया. और 4 चौके और इतने ही छक्के जड़ते हुए बना डाले पूरे 50 रन.

 

 

About Aaj Ka Din

Leave a reply translated

  • के बी पटेल नर्सिंग कॉलेज
  • Samwad 04
  • samwad 03
  • samwad 02
  • samwad 01
  • education 04
  • education 03
  • education 02
  • add seven