• स्नेहा तुम्हारी जाति क्या है? पहली बार देश में ये माना गया है कि कोई व्यक्ति जाति और धर्मविहीन हो सकता है. सरकार ने इसका सर्टिफिकेट जारी किया है. ये एक बड़ी सामाजिक क्रांति की शुरुआत हो सकती है
  • कलेक्टर से निगम समस्या को लेकर भाजपा पार्षद दल ने की मुलाकात
  • News
  • खाद्य, नागरिक आपूर्ति तथा उपभोक्ता संरक्षण, आवास एवं पर्यावरण, परिवहन एवं वन विभाग के लिए 4469 करोड़ 54 लाख 45 हजार रूपए की अनुदान मांगें ध्वनि मत से पारित
  • आरटीआई कार्यकर्ता राजकुमार मिश्रा को प्रदेश के उच्च व निम्न न्यायिक अधिकारियों के विरुद्ध लंबित विभागीय जांच की जानकारी 30 दिनों के भीतर देने का आदेश
  • जशपुर के पर्यटन एवम पुरातात्विक स्थलों के बारे में प्रदेश में आवाज़ उठाई विधायक यूडी मिंज ने

जशपुर के बस स्टैंड में उन्नत चूल्हा का क्यों दिखाया गया डेमो जानने के लिए पढ़ें- आज का दिन

सुमीत सोनी (जशपुर संवाददाता)

उन्नत चूल्हा के प्रचार में जुटा वन अमला

जशपुर के बस स्टैंड में वन अमला के द्वारा उन्नत चूल्हा का महत्व समझाते हुवे इसका डेमो दिखाया गया।उक्त चूल्हा के महत्व पर प्रकाश डालते हुवे वन अमला के द्वारा लोगों को इसकी उपयोगिता के संबंध में विस्तार से जानकारी दिया गया।

ज्ञात हो की पर्यावरण संरक्षण को लेकर वन विभाग के द्वारा इन दिनों उन्नत चूल्हा का उपयोग करने के लिए लोगों को प्रेरित किया जा रहा है इसी क्रम में वन विभाग के द्वारा जशपुर के बस स्टैंड में डेमो प्रोग्राम आयोजित किया गया जिसे देखने भारी संख्या में लोगों का हुजूम उमड़ा।वन विभाग के अधिकारियों द्वारा लोगों को बताया गया कि उन्नत चूल्हा से न सिर्फ महंगाई की मार से बचा जा सकता है बल्कि इसके उपयोग से खाना बनाने के क्रम में लकड़ी चूल्हा की अपेक्षा उन्नत चूल्हा से पर्यावरण को प्रदूषित होने से काफी हद तक रोका भी जा सकता है।लोगों के द्वारा उन्नत चूल्हा के उपयोग को जानकर प्रसन्नता व्यक्त किया गया है।वन विभाग के द्वारा उन्नत चूल्हा आम नागरिकों के लिए वन विभाग में उपलब्ध होने का बात बताया गया है।

बैटरी से जलता है उन्नत चूल्हा

उन्नत चूल्हा देखने में एक धातु के गोल बॉक्स के आकार का है जिसके बिच में आग की लपटें है लेकिन प्रदुशणविहीन।वहीँ उक्त चूल्हा को बैटरी से जलाये जाने का बात वन विभाग के द्वारा बताते हुवे उन्नत चूल्हा जला कर दिखाया गया।उक्त चूल्हा को जलाने में थोड़ी मात्रा में लकड़ी का भी उपयोग हुवा है जिससे न तो धुंवा निकल रहा है और न ही कोई प्रदूषण हो रहा है।उक्त लकड़ी के आग की लपटों में देखते ही देखते आराम से चन्द मिनट में ही खाना बनकर तैयार हो गया।जो लोगों को खूब भाया।

About Prashant Sahay

2 comments

  1. Jairam
    May 7th, 2018 22:33

    Please let me know the company name and models of such unnat chullah

    Reply

    • Aaj Ka Din
      May 10th, 2018 17:07

      Please Contact On this no . 99075 99002

      Reply

Leave a reply translated

Your email address will not be published. Required fields are marked *