• एक्सक्लूसिव: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पाकिस्तान बिरयानी खाने नहीं दाऊद इब्राहिम से गठजोड़ करने गए थे,भाजपा के कई नेताओं का है संबंध दाऊद इब्राहिम से: अबु आसिम आजमी
  • पूर्ण चन्द्र पाढ़ी कोको के नेतृत्व में कल दिल्ली में जमा होंगे छत्तीसगढ़ के युवा कांग्रेसी
  • राहुल गांधी का मजाक उड़ाने का मामला: हरीश लकमा और कोको पाढ़ी के बीच हुई चैटिंग विवादों में, राहुल गांधी लईका है,कांग्रेस को बर्बाद कर दूंगा आदि शब्दों से मचा बवाल
  • हरीश लखमा और कोको पाढ़ी के बीच हुई चैटिंग विवादों में, राहुल गांधी को लेकर किया टिप्पणी से मचा बवाल
  • मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की माता श्रीमती बिंदेश्वरी बघेल का मेडिकल बुलेटिन जारी,अगला 36 घंटे काफी अहम्
  • बैकुंठपुर: चोरी के आरोपी समान सहित धराये

अधिवक्ता विजय पटेल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह को पत्र लिखकर किया पोर्न वेबसाइटों के प्रसारण को बंद करने की मांग

अधिवक्ता विजय पटेल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह को पत्र लिखकर किया पोर्न वेबसाइटों के प्रसारण को बंद करने की मांग

“अफ़सर अली”

मनेन्द्रगढ़। क्षेत्र के वरिष्ठ अधिवक्ता विजय प्रकाश पटेल ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह को ज्ञापन प्रेषित कर इन्टरनेट मोबाईल के ज़रिए बेहिसाब अश्लीलता परोसने वाले यू ट्यूब एवं तमाम पोर्न साइट्स का प्रसारण पूरी तरह से तत्काल बैन कर बन्द कर देने की माँग की है । श्री पटेल ने अपने ज्ञापन में उल्लेखित किया है कि हमारे सभ्य भारतीय समाज की संस्कृति और पवित्र रिश्तों को कलंकित करने व उन्हें बिगाड़ने सहित इन बेहद अश्लील साइट्स द्वारा बाल- यौन इत्यादि अपराधों को बढ़ावा देने में वीभत्स भूमिका का निर्वाह किया जा रहा है, जो अत्यन्त शर्मनाक, निन्दनीय एवं चिन्तनीय है, क्योंकि इन्हें वरिष्ठजन-युवा पीढ़ी सहित नाबालिग बच्चों व छात्र-छात्राओं द्वारा भी बेरोकटोक देखा जा रहा है । जिससे इन सभी की मानसिकताओं और भविष्य पर विकृत दुष्प्रभाव पड़ने से आये दिन छेड़खानी, बलात्कार और हत्या जैसे मामलों में व्यापक वृद्धि हो रही है । छोटी-छोटी अबोध और मासूम बच्चियों के साथ शर्मनाक व क्रूर बलात्कार कर उनकी हत्या तक कर देने की घटनाओं में जो बेतहाशा वृद्धि हुई है, उसके पीछे इन अश्लील पोर्न साइट्स की अहम भूमिका है । श्री पटेल ने कहा है कि विभिन्न पारिवारिक सम्बन्धों के बीच जिस तरह से नाना प्रकार की अश्लील कहानियों का चित्रण बनाकर हमारे सभ्य समाज और पवित्र रिश्तों को की मानसिकता को कुत्सित व कुण्ठित करने का दुष्प्रयास किया जा रहा है, इस पर यथाशीघ्र पूर्णतः रोक लगाना नितान्त आवश्यक हो गया है। उन्होंने लिखा है कि हमें पूरा विश्वास है कि यू ट्यूब सहित तमाम पोर्न साइट्स को तत्काल बैन कर देने से ही यौन व बाल अपराधों को काफी हद तक नियन्त्रित किया जा सकेगा । साथ ही ऐसे वीभत्स व शर्मनाक बाल-यौन अपराधों के घटित होने के पश्चात् कैंडल मार्च, धरना-प्रदर्शन करने के अलावा भारतीय दण्ड विधान में संशोधन कर अपराधियों के ऐसे मामलों की सुनवाई एक माह के भीतर पूरी कर उनके लिए मृत्यु-दण्ड का निश्चित प्रावधान किया जाना नितान्त आवश्यक हो गया है।

About Aaj Ka Din

Leave a reply translated