• एक्सक्लूसिव: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पाकिस्तान बिरयानी खाने नहीं दाऊद इब्राहिम से गठजोड़ करने गए थे,भाजपा के कई नेताओं का है संबंध दाऊद इब्राहिम से: अबु आसिम आजमी
  • पूर्ण चन्द्र पाढ़ी कोको के नेतृत्व में कल दिल्ली में जमा होंगे छत्तीसगढ़ के युवा कांग्रेसी
  • राहुल गांधी का मजाक उड़ाने का मामला: हरीश लकमा और कोको पाढ़ी के बीच हुई चैटिंग विवादों में, राहुल गांधी लईका है,कांग्रेस को बर्बाद कर दूंगा आदि शब्दों से मचा बवाल
  • हरीश लखमा और कोको पाढ़ी के बीच हुई चैटिंग विवादों में, राहुल गांधी को लेकर किया टिप्पणी से मचा बवाल
  • मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की माता श्रीमती बिंदेश्वरी बघेल का मेडिकल बुलेटिन जारी,अगला 36 घंटे काफी अहम्
  • बैकुंठपुर: चोरी के आरोपी समान सहित धराये

माइन्स प्रबंधन व फाइनेंस कंपनी की खुलेआम दादागिरी ने ली ट्रांसपोर्ट व्यापारी महेंद्र जायसवाल की जान-कोमल हुपेण्डी,प्रदेश संयोजक,आम आदमी पार्टी छत्तीसगढ़

माइन्स प्रबंधन व फाइनेंस कंपनी की खुलेआम दादागिरी ने ली ट्रांसपोर्ट व्यापारी महेंद्र जायसवाल की जान-कोमल हुपेण्डी,प्रदेश संयोजक,आम आदमी पार्टी छत्तीसगढ़

आम आदमी पार्टी के प्रदेश संयोजक कोमल हुपेण्डी ने भानुप्रतापपुर नगर के प्रतिष्ठित नागरिक एवं ट्रांसपोर्ट व्यापारी महेंद्र जायसवाल की मौत पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि काँकेर जिले में काम कर रही निको जायसवाल माइनिंग कम्पनी और फाइनेंस कम्पनियां सरकारी संरक्षण में खुलेआम दादागिरी कर रही हैं।

निको जायसवाल माइनिंग कम्पनी जहां एक ओर महीनों तक ट्रांसपोर्ट व्यापारियों को भुगतान नहीं करते वहीं फाइनेंस कम्पनियां ट्रांसपोर्टरों को मानसिक रूप से प्रताड़ना का शिकार बनाती हैं।

कोमल हुपेण्डी ने कहा कि महेंद्र जायसवाल नगर के एक प्रतिष्ठित नागरिक थे व ट्रांसपोर्ट का व्यापार करते थे।उनकी आत्महत्या प्रदेश सरकार की व्यवस्था पर सवाल खड़ी करती है व प्रदेश सरकार के संरक्षण में निको माइन्स जैसी कंपनियां और फाइनेंस कम्पनियां काम करती हैं।

अब तो छत्तीसगढ़ के सुदूर क्षेत्रों में खुल रही खदानों में स्थानीय लोग किसी फाइनेंस कंपनी से ऋण लेकर ट्रांसपोर्ट का काम करें अथवा नहीं..? यह भी बहुत बड़ा सवाल बनता जा रहा है।

कोमल हुपेण्डी ने छत्तीसगढ़ की भूपेश बघेल सरकार से यह मांग की है कि इस मामले की उच्चस्तरीय जांच करे तथा निको जायसवाल माइनिंग कम्पनी और सम्बंधित फाइनेंस कंपनी के विरुद्ध एफ.आई.आर. दर्ज कर कड़ी से कड़ी कार्यवाही करे , ताकि ट्रांसपोर्ट व्यवसाय से जुड़े लोग बगैर किसी मानसिक प्रताड़ना के सुचारू रूप से कम कर सकें और इस तरह के कदम उठाने को मजबूर न हो।

About Aaj Ka Din

Leave a reply translated