• युवा कलेक्टर जशपुर की प्रेरणा से कुरकुंगा के युवा कर रहे नॉकआउट फुटबाल का आयोजन दर्शकों से खचाखच भरा रहता है मैदान
  • श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी जी की पुण्यतिथि पर भावभीनी श्रद्धांजलि
  • *स्वतंत्रता दिवस पर शहीद पुलिस कर्मचारी प्रधान आरक्षक ओबेदान को थाना कांसाबेल द्वारा दी गई श्रद्धांजलि…पढ़िए पूरी खबर*
  • बहनों ने भाइयों के कलाई में बांधे रक्षा के सूत्र ,मुँह मीठा कराकर लंबी उम्र की भी कामना की…पढिये पूरी खबर।
  • पूर्व केंद्रीय मंत्री विष्णुदेव साय ने बंदरचुआं के हाइस्कूल में किया ध्वजारोहण….. बच्चों द्वारा दी गयी सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति…… पढिये पूरी खबर।
  • पूर्व केंद्रीय मंत्री विष्णुदेव साय ने बंदरचुआं के हाइस्कूल में किया ध्वजारोहण….. बच्चों द्वारा दी गयी सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति…… पढिये पूरी खबर।
  • rampukar mantri
  • hiru kisan congress
  • के बी पटेल नर्सिंग कॉलेज
  • add education 01

डॉक्‍टर पायल तड़वी ने अपनी फ्रेंड से बातचीत में बताया था कि उसकी सीनियर्स उसे सीखने से रोक रही हैं जिससे वह अपने साथी जूनियर डॉक्‍टरों से भी पीछे होती जा रही हैं..

डॉक्‍टर पायल तड़वी ने अपनी फ्रेंड से बातचीत में बताया था कि उसकी सीनियर्स उसे सीखने से रोक रही हैं जिससे वह अपने साथी जूनियर डॉक्‍टरों से भी पीछे होती जा रही हैं..

नायर हॉस्पिटल में जूनियर डॉक्‍टर पायल तड़वी की आत्‍महत्‍या मामले में एक बड़ा खुलासा हुआ है। डॉक्‍टर पायल ने अपने एक मित्र से वाट्स ऐप पर जो बातचीत की थी उसका स्क्रीनशॉट सामने आया है जिसमे उसने अपने आत्महत्या की बात कही है। डॉक्‍टर पायल ने लिखा है कि माता-पिता को भी इस बात का डर था कि उनकी बेटी आत्‍महत्‍या कर सकती है।

आपको बता दें कि डॉ. पायल ने 23 मई को आत्‍महत्‍या कर लिया था। पिछले साल नवंबर महीने में डॉक्‍टर तड़वी ने अपनी फ्रेंड से बातचीत में बताया था कि उसकी सीनियर्स उसे सीखने से रोक रही हैं जिससे वह अपने साथी जूनियर डॉक्‍टरों से भी पीछे होती जा रही हैं। बातचीत में एक बार तो डॉक्‍टर पायल ने यहां तक कह दिया कि उन्‍हें अपने माता-पिता को 20 लाख रुपये तैयार रखने के लिए कहा गया है ताकि पीजी की सीट छोड़ने पर राज्‍य सरकार को यह पैसा दिया जा सके।डॉक्टर पायल आत्महत्या मामले में बुधवार को पुलिस ने तीनों आरोपी महिला डॉक्टरों भक्ति मेहेरे, हेमा आहूजा और अंकिता खंडेलवाल को हिरासत में ले लिया। तीनों पर अनुसूचित जनजाति से आने वाली जूनियर डॉक्टर तड़वी पर जातिगत टिप्पणी कर उसे आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप है।अपनी फ्रेंड के साथ एक चैट में डॉक्‍टर पायल ने बताया कि किस तरह से उन्‍हें प्रताड़‍ित किया जा रहा है। उन्‍होंने कहा, ‘अन्‍य डॉक्‍टरों और मरीजों की मौजूदगी में वे मेरे ऊपर चीखते-चिल्‍लाते हैं। वे इतना तेज चिल्‍लाते हैं कि उनकी आवाज को वार्ड के एक कोने से दूसरे कोने तक सुना जा सकता है।’ उन्‍होंने बताया कि सीनियर्स उनको निशाना बनाने के लिए अभद्र भाषा का इस्‍तेमाल करते हैं।पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में भी होगा बड़ा खुलासा
पुलिस ने बताया कि तड़वी के शरीर पर चोट के निशान पाए गए हैं और इसकी भी जांच जरूरी है। इसके लिए पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है। तड़वी के परिवार की ओर से पेश हुए वकील नितिन सतपुते ने आरोप लगाया कि चोट के निशान से पता चलता है कि तड़वी की हत्या की गई है और इसलिए आरोपियों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 302 के तहत मामला दर्ज किया जाना चाहिए। वहीं, आरोपियों के वकील आबाद पोंडा ने दलील दी कि तीनों डॉक्टरों को तड़वी की जाति के बारे में पता भी नहीं था।

About Aaj Ka Din

Leave a reply translated

  • rampukar mantri
  • hiru kisan congress
  • के बी पटेल नर्सिंग कॉलेज
  • Samwad 04
  • samwad 03
  • add seven