• खबर का असर-एक माह से अँधेरे में जीवन काट रहे लोगों की मिली रौशनी,ग्रामीणों ने कहा धन्यवाद आज का दिन
  • कर्नाटका बैंक ने बालाजी मेट्रो हास्पिटल को भेंट की एंबुलेंस,रायगढ़ विधायक प्रकाश नायक ने पूजा अर्चना कर किया लोकार्पण
  • अखिल छ ग चौहान कल्याण समिति के तत्वाधान में युवा जागृति सामाजिक जन चेतना मासिक सम्मलेन संपन्न
  • आई जी दुर्ग रेंज की पहल रंग लाने लगी,,,वीडियो कॉल द्वारा पुलिस को सुझाव आने लगा
  • महापौर रेड्डी ने डीएव्ही मुख्यमंत्री पब्लिक स्कूल चिरमिरी में खोलने किया मॉंग
  • हल्दीबाड़ी ग्रामीण बैंक के पास आज लगेगा रोजगार मेला

कलेक्टर ने पनचक्की डेम गहरीकरण कार्य का जायजा लिया

तिवारी नाला की सफाई एवं मरम्मत कराए जाने के निर्देश
जषपुरनगर 14 मई 2019/ जशपुर से लगे सारूडीह ग्राम पंचायत की पहाड़ी की तलहटी में बने पनचक्की डेम के गहरी करण कार्य कराया जा रहा है। कलेक्टर श्री निलेशकुमार महादेव क्षीरसागर ने आज जिला पंचायत के मुख्यकार्यपालन अधिकारी श्री राजेन्द्र कटारा के साथ पनचक्की डेम पहुंचे और वहां चल रहे गहरीकरण कार्य का मुआयना किया। इस दौरान एसडीएम जशपुर विजेन्द्र सिंह पाटले कार्यपालन अभियंता लोकनिर्माण दरश्यामकर, मुख्यनगरपालिका अधिकारी बसंत बुनकर संहित अन्य अधिकारी उनके साथ थे।
कलेक्टर ने पनचक्की डेम के एरिया की पैमाईश कराने के निर्देश एसडीएम को दिए। उन्होंने कहा कि इस डेम की भूमि का सीमांकन करने के साथ ही यहां ज्यादा से ज्यादा पानी का भराव हो इसको ध्यान में रखते हुए गहरीकरण कार्य कराया जाना चाहिए। उन्होंने डेम के उपरी हिस्से के तटों की पीचिंग के भी निर्देश दिए। यहां यह उल्लेखनीय है कि पनचक्की डेम दरअसल एक छोटे एनीकट के रूप में बना है। यहां पहाड़ी के उपरी हिस्से से बहकर आने वाला पानी एक केनाल के जरिए जशपुर नगर के अन्य हिस्सों में जाता है। पनचक्की डेम में बारहो महीने पानी की आवक बनी रहती है।
ज्ञातव्य है कि जिला प्रशासन द्वारा पनचक्की डेम के केनाल को जिसे जशपुर के लोग तिवारी नाला के नाम से जानते और पुकारते हैं, की साफ-सफाई का अभियान शहर वासियों की सहभागिता से श्रमदान कर किया जा रहा है। लगभग साढ़े चार किलोमीटर लम्बी इस केनाल में जगह-जगह मिट्टी का जमाव और बेशरम के पौधे उग आने से यह मृत प्राय हो गई थी। कलेक्टर की अगुवाई में बीते एक सप्ताह में श्रमदान के जरिए इसकी साफ-सफाई की गई है। केनाल में जमीन मिट्टी के उठाव एवं इसके टूट फूट वाले हिस्से की मरम्मत की जिम्मेदारी जिला प्रशासन द्वारा स्थानीय जनपद पंचायत, आरईएस, लोकनिर्माण, जलसंसाधन, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना, मुख्यमंत्री ग्राम सड़क योजना के जिम्मे सौंपी गई है। केनाल के दोनों ओर उपयुक्त स्थलों पर वृक्षारोपण कराए जाने की जिम्मेदारी वन विभाग को दी गई है। कलेक्टर ने सभी विभाग के अधिकारियों को तिवारी नाला के साफ-सफाई का काम एक सप्ताह के भीतर पूरा कराए जाने को कहा है।

About yranjeet364@gmail.com

Leave a reply translated