• खबर का असर-एक माह से अँधेरे में जीवन काट रहे लोगों की मिली रौशनी,ग्रामीणों ने कहा धन्यवाद आज का दिन
  • कर्नाटका बैंक ने बालाजी मेट्रो हास्पिटल को भेंट की एंबुलेंस,रायगढ़ विधायक प्रकाश नायक ने पूजा अर्चना कर किया लोकार्पण
  • अखिल छ ग चौहान कल्याण समिति के तत्वाधान में युवा जागृति सामाजिक जन चेतना मासिक सम्मलेन संपन्न
  • आई जी दुर्ग रेंज की पहल रंग लाने लगी,,,वीडियो कॉल द्वारा पुलिस को सुझाव आने लगा
  • महापौर रेड्डी ने डीएव्ही मुख्यमंत्री पब्लिक स्कूल चिरमिरी में खोलने किया मॉंग
  • हल्दीबाड़ी ग्रामीण बैंक के पास आज लगेगा रोजगार मेला

सन्ना में चुनाव को लेकर मतदाताओं में रुझान तेज,सन्ना के 4 बूथों में अव्यवस्था के कारण मतदाता परेशान-अब तक लगभग 60 मतदाता मतदान स्थल से बिना मतदान किये हुवे वापस

एजाज खान की कलम से

सन्ना – लोकसभा चुनाव को लेकर लोगों ने ख़ासा रुझान देखने को मिल रहा है।यहाँ बूढ़े जवान महिलायें सभी मतदान के लिए सुबह से अपने घरों से निकल मतदान स्थलों पर पहुंचने लगे हैं,जिस कारण मतदान का प्रतिशत अच्छा होने का अनुमान लगाया जा रहा है वहीँ यहाँ के 4 बूथों में अव्यवथा के कारण मतदाताओं को परेशानियों का सामना भी करना पड़ रहा है।जिस कारण अब तक लगभग 60 मतदाता बिना मतदान किये वापस जा चुके हैं।

विदित हो की बूथ क्रमांक 31 में मतदाताओं की अच्छी खासी लाइन मतदान के लिए नजर आ रहा है,मतदान के लिए लोगों का भारी संख्या में निकलना प्रशांसन के मतदाता जागरूकता अभियान की सफलता भी लोगों द्वारा कहा जा रहा है,जब मतदाता मतदान के लिए मतदान स्थल पर पहुंचे तो वहाँ की अव्यवस्था देख मतदाता परेशान भी हुवे,कई बूथों में पानी की समस्या के कारण भारी गर्मी में मतदाताओं का हाल बुरा था,लंबी लाइन और उमस भरी गर्मी के बीच तालमेल नहीं बैठने के कारण मतदाताओं को दिक्कतों का सामना करना पड़ना यहाँ आम नजर आ रहा था,वहीँ बूथ क्रमांक 31 में लगभग 50-60 मतदाता बिना मतदान के वापस लौट रहे थे उनसे जब वापस लौटने का कारण पूछा गया तो मतदाताओं ने बताया कि वे लगभग 8-10 किलोमीटर की दुरी तय कर मतदान के लिए यहाँ आये हैं और शासन द्वारा जारी मत पर्ची साथ में लाये हैं लेकिन यहाँ आने पर पता चला की मत पर्ची के साथ साथ वोटर आईडी/पहचान पत्र साथ में लाना आवश्यक है जिसे जागरूकता या जानकारी के अभाव में नहीं साथ नहीं लाये जाने पर उन्हें मतदान करने से अभी वंचित होना पड़ा है अब वे दुबारा जाकर पहचान पत्र नहीं ला सकते क्योंकि दुरी काफी है और गर्मी में इतना दुरी सफर करना उनके लिए पहाड़ से पानी निकलने जैसा है।जानकारी/जागरूकता के अभाव के कारण पहचान पत्र साथ में नहीं लाने से और भी मतदाता वापस जाने के अनुमान ग्रामीणों द्वारा लगाया जा रहा है।उक्त घटना की सूचना जिला निर्वाचन अधिकारी को भी दिया गया है जिसके द्वारा समस्या की जानकारी लेकर उचित समाधान भी निकाला जा रहा है।

About Prashant Sahay

Leave a reply translated