• खनन में काम करने वालों को सुरक्षा, सम्मान और उपचार की जरुरत: यू.एन.
  • पूर्व डीआरयूसीसी सदस्य विजय पटेल ने रेल प्रबंधक और डीआरएम को पत्र लिखकर बताया चिरमिरी मनेंद्रगढ़ सेक्शन की गंभीर समस्याएं
  • खानपान की स्वतंत्रता के साथ अंडों के पक्ष में है माकपा
  • 2018-19 का भवन आजतक निर्माण नही हो पाई तो सीईओ ने निर्देश दिया 30 जुलाई तक पूर्व नही हुआ तो सस्पेंड कर दिया जाएगा सचिव को
  • छोटा बाजार में हिन्दू सेना के महिला विंग की समीक्षा बैठक सम्पन्न
  • 8 सालो से आंगनबाड़ी केंद्र नही होने से घर पर ही बच्चों को सिखया जा रहा है
  • के बी पटेल नर्सिंग कॉलेज
  • nasir
  • halim
  • pawan
  • add hiru collage
  • add sarhul sarjiyus
  • add safdar hansraj
  • add harish u.d.
  • add education 01

“ हद”

“ हद”

सुनो ,कहाँ तक है
मेरी हद ,
तुम्हीं करो निर्धारित,
मैं नहीं जान पाती हूँ,
और पार कर जाती हूँ
तुम्हारी तय की हुई हद,
मुझे बाँधो मेरी सीमा में,
क्योंकि मैं एक ,
औरत हूँ और,
शायद हद में ,
रहना है जरुरी ,
मुझे बेहद,
शायद मेरा अंत ही ,
ले जाये मुझे वहाँ ,
जहाँ अंतहीन आकाश हो,
और मेरी मर्यादा ,
मेरी अस्मिता की ना हो,
कोई हद ,
क्यूँकि युगों युगों से ,
बाँधा है तुमने हमेशा,
झूठी मर्यादा के नाम पर,
खींची है मेरे लिये ,
लक्ष्मण रेखा तुमने ,
मैं अब उस अनंत में ,
समा जाना चाहती हूँ,
तुम्हारी तय की हुई
हद से गुज़र जाना ,
चाहती हूँ,
मैं अंतहीन हो जाना ,
चाहती हूँ।।

\\ नीलिमा मिश्रा//

About Aaj Ka Din

Leave a reply translated

  • के बी पटेल नर्सिंग कॉलेज
  • Samwad 04
  • samwad 03
  • samwad 02
  • samwad 01
  • education 04
  • education 03
  • education 02
  • add seven