• भीषण गर्मी में बिजली गुल से ग्रामीण हलाकान,माह भर से किस ग्राम के ग्रामीण खोज रहे बिजली,जानने के लिए पढ़ें-आज का दिन
  • राजू गाइड और नरेंद्र मोदी..!!!
  • गीत बिना मर जाएंगे। पत्तों-सा झर जाएंगे।
  • बाईक ट्रक में भिड़ंत दो की घटना स्थल पर मौके पर मौत एक कि हालत गंभीर
  • पराजय से भयभीत मोदी जी मीडिया को बुला बुलाकर इंटरव्यू दे रहे हैं :-कांग्रेस
  • कांग्रेस की राज्य की सभी 11 लोकसभा सीटों में होगी जीत

-२०१९- १०० स्मार्ट सिटी नहीं,अब सीटी बजाएँगे करोड़ों चौकीदार….!!!

-२०१९- १०० स्मार्ट सिटी नहीं,अब सीटी बजाएँगे करोड़ों चौकीदार….!!!

नितिन राजीव सिन्हा//

लोगों को याद है कि २०१४ में मोदी ने १०० स्मार्ट सिटी का नारा दिया था उसके पोस्टर बाँटे थे,वक़्त अब बदल गया है देश बदल रहा है उनके तब के पोस्टर पर लोगों ने बड़े क्रान्तिकारी परिवर्तन कर दिए हैं कुछ लोगों ने कच्छे तो कुछ ने पायजामें सिलवा लिये हैं अब,स्मार्ट सिटी मुद्दा नहीं रह गया है बल्कि चौकीदार देश के कैनवास पर उकेर दिया गया है..,
जनता जाग चुकी है और वह मोदी रूपी तथाकथित चौकीदार के पीछे सीटी बजाने के लिये खड़ी होती हुई दिख पड़ी है..!!!
जैसा कि मोदी को गुमान है लेकिन लगता तो यही है कि मोदी पिटे हुए प्यादे की तरह बर्ताव कर रहे हैं वे मुद्दों से भटक रहे हैं और पुलवामा चुनाव का मुद्दा न बन सका तो भावनात्मक ज्वार उत्पन्न करने के प्रयास में देश की जनता को अपने पीछे खड़ा करना चाह रहे हैं ख़ुद को चौकीदार और देश को चौकीदारों का देश बनाने जा रहे हैं कौशल विकास का इससे बेहतर नज़ारा दोबारा शायद ही देखने में आए..,
ऐसा सफल प्रयोग कथित रूप से भाजपा अन्ना आंदोलन के समय “मैं,भी अन्ना .., की टोपियों के साथ कर चुकी है,अब मैं भी चौकीदार के नारों के साथ वैसी ही टोपियाँ सब तरफ़ चुनाव प्रचार में नज़र आ जायें तो कोई अचरज नहीं..,लिखना होगा कि-
क़ुर्बतो में
फ़ासलों की
ऐसी उम्मीदें
न थी..,
मसला कोई
सियासी नहीं
है बल्कि आँसू
भी हैं और
यहाँ आँसुओं
का समंदर है..,
वैसे,एक आँसू
भी चौकीदार
की सियासत
के लिये ख़तरा है..,

About Aaj Ka Din

Leave a reply translated