• मादा चीतल की कुएं में गिरने से मौत,कुत्तों के झुंड के हमलों से बचने भागी थी
  • रेलवे लाइन क्रॉस करते हुए भालू की ट्रेन से कटकर मौत…,नागपुर रोड से बिश्रामपुर रेलवे लाइन के बीच दर्री टोला के पास उजियारपुर की घटना
  • प्रार्थी पर जानलेवा हमला के बाद, केल्हारी थाना प्रभारी पर आरोपी के ऊपर नरम रुख अख्तियार करने का आरोप
  • जांच नहीं होने देने रोकने, सत्य को छिपाने, सबूतों का दबाने का खेल छत्तीसगढ़ की ही तरह दिल्ली की सरकार में भी जारी है:-कांग्रेस
  • प्रशासन की लापरवाही से ग्रामीण दूषित पानी पीने को मजबूर, पूरा गांव चर्म रोग के शिकार
  • मिशन उराँव समाज के विरोध से कांग्रेस में घमासान,पार्टी की मुसीबतें कम होने का नाम ही नहीं ले रही

लोकसभा चुनाव के मद्देनजर आपराधिक गतिविधियों की रोकथाम के लिए टीम गठित

एसएसटी और एफएसटी दलों का प्रशिक्षण दस हजार से ज्यादा सामग्री और 50 हजार से अधिक नगद की होगी जब्ती
बलौदाबाजार-लोकसभा चुनाव के दौरान संभावित आपराधिक गतिविधियों की रोकथाम के लिए गठित स्थैतिक निगरानी दल (एसएसटी) और फ्लाईंग स्क्वॉयड टीम (एफएसटी) के सदस्यों का प्रशिक्षण आज यहां जिला कार्यालय के सभाकक्ष में दो अलग-अलग सत्रों में संपन्न हुआ। जिले में एफएसटी के 36 और एसएसटी के 45 टीमें बनाई गई हैं। प्रत्येक टीम में 4 सदस्यों के हिसाब से लगभग सवा तीन सौ कर्मचारी इस काम में लगे हैं। कलेक्टर कार्तिकेया गोयल एवं एसपी नीतु कमल स्वयं इन प्रशिक्षणों में मौजूद रहकर स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव में इन टीमों की भूमिका को रेखांकित किया और उन्हें दायित्व निर्वहन के दौरान ध्यान रखने वाली महत्वपूर्ण टिप्स दिए। जिला पंचायत के सीईओ एवं प्रशिक्षण कार्यक्रम के नोडल अफसर एस.जयवर्धन, अपर कलेक्टर जोगेन्द्र नायक, उप जिला निर्वाचन अधिकारी भी इस दौरान उपस्थित थे।
कलेक्टर गोयल ने प्रशिक्षण में कहा कि आचार संहिता के पालन और निष्पक्ष चुनाव संपन्न कराने में इन दोनों टीमों की महती भूमिका है। एफएसटी के सदस्य सदैव गश्त में और एसएसटी के सदस्य कुछ रणनीतिक स्थलों पर ड्यूटी में रहेंगे। उन्होंने कहा कि चेकिंग के दौरान महिलाओं, बच्चों और बीमार लोगों के साथ सदाशयता से प्रस्तुत होने चाहिए। संपूर्ण प्रक्रिया की वीडियोग्राफी की जाएगी। वीडयो टीम सदैव इनके साथ रहेगी। उन्होंने कहा कि शिकायत दर्ज कराने के लिए सी-विजिल एप्प आ चुका है। इनके जरिए मिली शिकायतों के निराकरण में इन टीमों का उपयोग किया जाएगा। उन्होंने फिर जोर देकर कहा कि इन टीमों का काम किसी को परेशान करना नहीं बल्कि संभावित चुनावी गड़बड़ी को रोकना है। उन्होंने कहा कि टीम के सदस्य हमेशा अपना फोन चालू रखें। पुलिस अधीक्षक नीतु कमल ने कहा कि एसएसटी टीम की शिफ्टवार ड्यूटी लगाई जाएगी। उनके लिए प्रकाश और टेन्ट की व्यवस्था की जाएगी। उन्होंने कहा कि मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में पुलिस द्वारा जब्तीनामा का प्रतिवेदन बनाया जाएगा और इसी के आधार पर संबंधित थाने द्वारा एफआईआर दर्ज कराई जाएगी। उन्होंने वाहनों में सामग्री केे छुपाने के कुछ महत्वपूर्ण स्थलों की ओर खास तौर पर ध्यान रखने के निर्देश दिए।
राज्य स्तरीय मास्टर ट्रेनर कृपाशंकर तिवारी ने चुनाव आयोग के निर्देशानुसार इन टीमों के लिए निर्धारित दायित्व और कर्तव्य के बारे में विस्तार से प्रशिक्षण दिया। उन्होंने बताया कि 10 हजार रूपए तक उपहार सामग्री और 50 हजार रूपये तक की नगद राशि पर कोई कार्रवाई नहीं की जाएगी। इससे ज्यादा की राशि पर जब्ती की कार्रवाई की जाएगी। 10 लाख रूपये से ज्यादा की रकम बरामद होने पर इंकम टैक्स अधिकारियों को सूचित की जाएगी। उन्होंने अपराध के अनुरूप सुसंगत धाराओं के बारें में भी बताया ताकि अपराधी को सजा दिलाया जा सके। उप जिला निर्वाचन अधिकारी सचिन भूतड़ा ने इन्वेस्टीगेटर एप्प की कार्रवाई के बारे में बताया। उन्होंने सभी दल प्रभारियों को एसओपी के बारे में बताया। इस अवसर पर डिप्टी कलेक्टर एवं प्रशिक्षण कार्यक्रम के प्रभारी वैभव कुमार, कोषालय अधिकारी दिलीप सिंह, डिप्टी कलेक्टर राकेश गोलछा और एसडीएम लवीना पाण्डेय सहित एफएसटी और एसएसटी ड्यूटी में लगे अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे।

About Prashant Sahay

Leave a reply translated

Newsletter