• एक्सक्लूसिव: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पाकिस्तान बिरयानी खाने नहीं दाऊद इब्राहिम से गठजोड़ करने गए थे,भाजपा के कई नेताओं का है संबंध दाऊद इब्राहिम से: अबु आसिम आजमी
  • पूर्ण चन्द्र पाढ़ी कोको के नेतृत्व में कल दिल्ली में जमा होंगे छत्तीसगढ़ के युवा कांग्रेसी
  • राहुल गांधी का मजाक उड़ाने का मामला: हरीश लकमा और कोको पाढ़ी के बीच हुई चैटिंग विवादों में, राहुल गांधी लईका है,कांग्रेस को बर्बाद कर दूंगा आदि शब्दों से मचा बवाल
  • हरीश लखमा और कोको पाढ़ी के बीच हुई चैटिंग विवादों में, राहुल गांधी को लेकर किया टिप्पणी से मचा बवाल
  • मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की माता श्रीमती बिंदेश्वरी बघेल का मेडिकल बुलेटिन जारी,अगला 36 घंटे काफी अहम्
  • बैकुंठपुर: चोरी के आरोपी समान सहित धराये

नेशनल लोक अदालत में राजीनामा के तहत 210 प्ररकणों का किया गया निपटारा

नेशनल लोक अदालत में राजीनामा के तहत 210 प्ररकणों का किया गया निपटारा

अफ़सर अली//

1.27 करोड़ से अधिक की समझौता राशि हुई जमा

बैकुंठपुर । आपसी समझौते के आधार पर राजीनामा कर लोगों को त्वरित न्याय दिलाने के उदेश्य से न्यायालय के निर्देशानुसार आज नेशनल लोक अदालत का आयोजन किया गया। जिला एवं सत्र न्यायाधीश माननीय विजय कुमार एक्का ने जिला न्यायालय में माॅ सरस्वती की छायाचित्र के समक्ष दीप प्रज्जवलित कर नेशनल लाक अदालत का शुभांरभ किया। श्री एक्का ने अदालत परिसर में बैंको सहित विभिन्न विभागों द्वारा लगाये गये स्टालों का आवलोकन किया तथा अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिये। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव श्रीमती भावना नायक ने बताया कि राष्ट्रीय लोक अदालत में आज 210 प्रकरणों का निपटारा कर 1 करोड़ 27 लाख 23 हजार 350 रूपये का समझौता राशि जमा कराया गया। उन्होनें बताया कि प्री-लिटिगेशन एवं लंबित प्रकरण के निपटारों के लिए 18 प्री-लिटिगेशन प्रकरण एवं विभिन्न न्यायालयों में 973 प्रकरण रखे गये थे जिसमें कुमल 192 प्रकरणों का निराकरण किया गया। इस प्रकार कुल 5384 प्रकरण रखे गये जिसमें कुल 210 प्रकरणों का निराकरण कर 1 करोड़ 27 लाख 23 हजार 350 रूपये की वूसली राजीनामा के माध्यम से नेशनल लोक अदालत में किया गया। उन्होनें बताया कि नेशनल लोक अदालत में अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश एफ.टी.सी के न्यायालय में मोटर दुर्घटना से संबंधित एक मामले में 20 वर्ष के नवयुवक की मृत्यु जिसमें दुर्घटनाकारित वाहन का बीमा नही था तथा उत्तरवादी की आर्थिक स्थिति भी ठीक नही थी, संबंधित पक्षकारों को खंडपीठ के द्वारा समझाइश दिये जाने पर आवेदक ने क्षतिपूर्ति राशि में से एक महत्वपूर्ण भाग का परित्याग करते हुये तीन लाख रूपये और वह भी किस्तों में लेना स्वीकार कर प्रकरण को समझौते के आधार पर निराकृत किया गया।

जिला न्यायाधीश द्वारा नेशनल लोक अदालत में जिला न्यायालय में लंबित राजीनामा योग्य प्रकरणों आपराधिक प्रकरण, एन.आई.एक्ट, बैंक वसूली प्रकरण, मोटर दुर्घटना दावा, श्रम विवाद प्रकरण, विघुत एवं पानी बिल संबंधी मामले, पारिवारिक मामलें, राजस्व मामले, अन्य सिविल मामलों का एवं प्रीलिटिगेशन प्रकरणों में एन.आई.एक्ट, बैंक वसूली प्रकरण, विद्युत बिल प्रकरण, पानी बिल प्रकरण शामिल है। नेशनल लोक अदालत में अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीष श्री अरविदं कुमार, श्री मोहन दास गुप्ता, श्री पुरुषोत्तम मरकाम, मुख्य न्यायिक मजिस्टेट राधिका सैनी, प्रथम श्रेणी मजिस्टेट श्री के.के.सूर्यवंशी, श्री महेश राज, साक्षी दीक्षित, श्री आनंद बोरकर, श्रीमती एकता अग्रवाल, मृणांलीनि कटूलकर एवं अधिवक्तागण उपस्थित थे ।

About Aaj Ka Din

Leave a reply translated