• अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर वन मंत्री मोहम्मद अकबर कवर्धा के योग कार्यक्रम में होंगे शामिल
  • क्या संजीव भट्ट को फर्जी मामलों में उम्र कैद हुई है..?
  • बुजुर्गो के साथ भाजयुमो ने मनाया रोशन का जन्मदिन
  • मुस्लिमों को मार रहा हैं चीन,मानव अंगो की कमी को पूरा करने के लिए चीनी जेलों में बंद कैदियों के शरीर का सहारा ले रही चीन
  • पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव कर रहे हैं विभागीय कार्यों की समीक्षा
  • कृषि स्थायी समिति की बैठक 26 जून को

विवाह के बाद कार,एसी नही लाने पर नवविवाहिता को मायके में छोड़ा,शिकायत पर नही हुई कार्यवाही,एसपी से फरियाद

विवाह के बाद कार,एसी नही लाने पर नवविवाहिता को मायके में छोड़ा,शिकायत पर नही हुई कार्यवाही,एसपी से फरियाद

कमल महंत की कलम से

कोरबा:- पति सहित ससुरालियों द्वारा सामान में कार,एसी, वासिंग मशीन,डाइनिंग टेबल व गहने ना लाने की बात पर नवविवाहिता को शारीरिक,मानसिक रूप से प्रताड़ित करते हुए विवाह के 4 माह बाद उसके मायके में छोड़ दिया गया।पीड़िता की शिकायत पर पुलिस द्वारा कार्यवाही ना किये जाने से पीड़िता अपने परिजन के साथ एसपी कार्यालय पहुँच एसपी को लिखितमय आवेदन सौप न्याय की फरियाद लगाई है।

इस संबंध पर पीड़िता पूजा महंत 21 वर्ष द्वारा एसपी को दिए गए लिखितमय आवेदन के अनुसार 7 अप्रैल 2018 को बांकीमोंगरा थाना अंतर्गत तेंदुकोना,देवरी निवासी लंबोदर दास पिता झड़ीदास के साथ सामाजिक रीति-रिवाज से विवाह संपन्न हुआ था।विवाह पश्चात नवविवाहिता अपने ससुराल गई तब पति,ससुर सहित सास सम्मतबाई व ननंद सुमन महंत द्वारा सामान में कार,एसी, डाइनिंग टेबल,वाशिंग मशीन और सोने चांदी के गहने ना लाने की बात पर प्रताड़ित करने लगे।तथा मायके से उक्त सामान मंगाने शारीरिक एवं मानसिक रूप से यातना देने लगे।ससुरालियों की डिमांड पूरी नही होने पर विवाह के 4 माह बाद 22 अगस्त 2018 को नवविवाहिता को पति मायके में छोड़ गया।और बुलावे पर सामान के साथ ससुराल लाने की बात पर अड़े रहे।पीड़िता द्वारा 29 अक्टूबर 2018 को इसकी शिकायत कटघोरा थाना में की गई।जहाँ से उसे परिवार परामर्श केंद्र में सुलह के लिए भेज दिया गया।यहाँ पीड़िता के पति को उपस्थित कर समझाईस दिया गया।लेकिन पति नही माना।नवविवाहिता दोबारा कटघोरा थाना पहुँची।लेकिन पुलिस द्वारा मामला बांकीमोंगरा थाना क्षेत्र होने का हवाला देकर भेज दिया गया।जिसके बाद पीड़िता 14 जनवरी 2019 को बांकीमोंगरा थाना शिकायत लेकर पहुँची।जहाँ उसका व परिजनों का बयान लिया गया।किन्तु डेढ़ माह बीत जाने उपरांत भी बांकीमोंगरा पुलिस द्वारा मामले पर किसी भी प्रकार की कार्यवाही नही की गई।मामले में कार्यवाही की मांग को लेकर गत 8 मार्च 2019 को नवविवाहिता अपने परिजन के साथ एसपी कार्यालय पहुँच एसपी को लिखितमय आवेदन देकर न्याय दिलाए जाने की फरियाद की है।

About Prashant Sahay

Leave a reply translated