• एक्सक्लूसिव: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पाकिस्तान बिरयानी खाने नहीं दाऊद इब्राहिम से गठजोड़ करने गए थे,भाजपा के कई नेताओं का है संबंध दाऊद इब्राहिम से: अबु आसिम आजमी
  • पूर्ण चन्द्र पाढ़ी कोको के नेतृत्व में कल दिल्ली में जमा होंगे छत्तीसगढ़ के युवा कांग्रेसी
  • राहुल गांधी का मजाक उड़ाने का मामला: हरीश लकमा और कोको पाढ़ी के बीच हुई चैटिंग विवादों में, राहुल गांधी लईका है,कांग्रेस को बर्बाद कर दूंगा आदि शब्दों से मचा बवाल
  • हरीश लखमा और कोको पाढ़ी के बीच हुई चैटिंग विवादों में, राहुल गांधी को लेकर किया टिप्पणी से मचा बवाल
  • मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की माता श्रीमती बिंदेश्वरी बघेल का मेडिकल बुलेटिन जारी,अगला 36 घंटे काफी अहम्
  • बैकुंठपुर: चोरी के आरोपी समान सहित धराये

नरवा, गरवा, घुरवा, बाड़ी पर बन रहे छत्तीसगढ़ी फिल्म का मुख्यमंत्री निवास में हुआ विमोचन

 रायपुर-मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट नरवा, गरवा, घुरवा, बाड़ी अब छत्तीसगढ़ के फि ल्मकारों को भी रास आ रहा है और वे इस विषय पर फि ल्म बना रहे हैं। अंकुश देवांगन यूनीवर्सल फि ल्म स्टूडियोश भिलाई के नामचीन कलाकारों ने मुख्यमंत्री निवास में इस फि ल्म के नाम का विमोचन किया। इस दौरान लिम्का बुक ऑफ द वल्र्ड रिकार्ड होल्डर सुप्रसिद्ध कलाकार अंकुश देवांगन, प्रख्यात माडर्न आर्ट चित्रकार डी.एस. विद्यार्थी, मुंबई से आये युवा निदेशक-नीरज ग्वाल, लोकमंच उद्घोशिका रुपा साहू, मिसेज इंडिया कास्ट्यूम-शिखा साहू, रंगकर्मी व पार्षद-राजेन्द्र रजक, समाजसेवी-प्रवीण कालमेघ, वरिष्ठ रंगकर्मी-अनिमेश पसीने एवं प्रेमचंद साहू उपस्थित थे।
ज्ञात हो कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने विधानसभा चुनावों मे नरवा, गरवा, घुरवा, बाड़ी प्रोजेक्ट को बढ़-चढक़र प्रचारित किया था। खेती-किसानी को आर्थिक समृद्धि का आधार बनाने वाले इस रोजगार मूलक विषय ने लोगों में जादू का काम किया था और कांग्रेस ने करिश्माई रुप से छत्तीसगढ़ में अपनी सरकार बनाई थी। राहुल गांधी को भी यह कांसेप्ट काफ ी पसंद आया है और वे विभिन्न राज्यों में भूपेष बघेल को अपने साथ ले जाकर इन योजनाओं पर व्याख्यान देने कहते हैं। फि ल्म का स्क्रीप्ट लिखने वाले कलाकार अंकुष देवांगन ने बताया कि भले ही नरवा-घुरवा अपने नाम से देहाती लगता हो किन्तु यह एक साईंटिफि क सब्जेक्ट है। जिसे भूपेष बघेल ने पाटन क्षेत्र में पायलट प्रोजेक्ट के रुप में सफ ल करके दिखाया है अत: वे इसे ट्रू स्टोरी के तहत दर्शकों के समक्ष प्रस्तुत करेंगे। इस विषय पर उनका रिसर्च वर्क पूरा हो चुका है और फि ल्म शीघ्र ही फ्लोर पर आने की उम्मीद है। भिलाई के ही निवासी तथा वर्तमान में मुंबई में रह रहे युवा निदेशक-नीरज ग्वाल तथा अन्य समस्त कलाकारों ने माना कि इस विषय के वास्तविक धरातल पर कार्य करने से न सिर्फ छत्तीसगढ़ वरन देश भर में अमीरी-गरीबी के खाई को दूर किया जा सकता है। यह एक व्यापक दर्शन भी है जो बताता है कि केवल कुछ लोगों के पूंजीपति बन जाने से ही देश समृद्ध नहीं होगा वरन् गरीब, मजदूर, किसान और समग्र वर्ग के विकास में ही देष का विकास अंतर्निहीत है। कहानी के वैश्विक कंटेन को देखते हुए कलाकार इसे दो भाषाओं में बनाना चाहते हैं हिन्दी में इस फि ल्म का अलग नाम होगा। इसके अलावा कलाकार इसे अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कारों तक ले जाने की भी उम्मीद रखते हैं। फिल्म के नाम विमोचन के दौरान मुख्यमंत्री ने कलाकारों से फि ल्म की कहानी के बारे में विस्तृत जानकारी ली तथा उन्हें पाटन जाकर प्रोजेक्ट का निरीक्षण करने को भी कहा ताकि वास्तविक तथ्य लोगों के समक्ष आ सके। साथ ही उन्होंने अच्छी फिल्म बनाने के लिए कलाकारों को षुभकामनाएं दी है तथा उम्मीद जताई है कि वे छत्तीसगढ़ की समृद्ध संस्कृति का प्रदर्शन करते हुए एक अच्छी पारिवारिक फि ल्म बनायेंगे।

About Prashant Sahay

Leave a reply translated