• प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी पर देश की जनता की तरह दिल्ली की जनता को भी पूर्ण विश्वास है-मनोज तिवारी
  • ईव्हीएम मशीनों को दोहरे ताले से किया गया सील
  • Gulab ka Sharbat
  • Bel Ka Juice
  • भारतीय अर्थव्यवस्था
  • Garmi Me Piye Istrawberi

दो दिग्गज मिले, हुई गुफ़्तगू,शिक्षक और स्कूल समस्याविहीन हो बस यही आरजू:वीरेंद्र दुबे और चन्द्रदेव राय

दो दिग्गज मिले, हुई गुफ़्तगू,शिक्षक और स्कूल समस्याविहीन हो बस यही आरजू:वीरेंद्र दुबे और चन्द्रदेव राय

लम्बित अनुकम्पा नियुक्ति,सबका संविलियन हो पहले तब हो सीधी भर्ती और वेतन विसंगति,क्रमोन्नति को लेकर वीरेंद्र दुबे अब भी मुखर,जताया उम्मीद कि इसके समाधान को लेकर मुख्यमंत्री जी करें शिक्षाकर्मी संघ प्रमुखों से मुलाकात,इसके लिए हमारे आंदोलनो के सहभागी चन्द्रदेवराय करें शासन के साथ सेतु का काम, लोकसभा चुनाव के पहले ही शासन किसानों की तरह शिक्षाकर्मियों को भी दे सौगात..!!

केवल सहायक शिक्षक पद पर ही हो सीधी भर्ती,शिक्षक-व्याख्याता-प्राचार्य/प्रधानपाठक पदों पर हो 100% पदोन्नति क्योंकि हजारों योग्यताधारी शिक्षक/शिक्षाकर्मी वर्षो से कर रहे पदोन्नति का इंतजार,

शिक्षाकर्मियों के समस्त आंदोलनों के प्रान्तीय संचालक रह सांगिक रूप से नेतृत्व प्रदान करने,और आशातीत सफलताओं को प्राप्त करने वाले वीरेन्द्र दुबे और चन्द्रदेवराय की अहम मुलाकात वीरेन्द्र दुबे के रायपुर स्थित निवास पर हुई। गौरतलब है कि चन्द्रदेवराय विधानसभा चुनाव में बिलाईगढ़ से भारी मतों से चुनाव जीतकर विधायक बन चुके हैं और वर्तमान सरकार का हिस्सा हैं,इसलिए भी यह मुलाकात विशेष रहा।

*विधायक चन्द्रदेवराय और शालेय शिक्षाकर्मी संघ के प्रांताध्यक्ष वीरेंद्र दुबे की हुई यह अहम भेंट* शिक्षाकर्मियों के मन मे एक सुखद आस भी जगा रही है क्योंकि दोनों ने औपचारिक वार्तालाप के अलावा शिक्षाकर्मियों की समस्याओं और उनके समाधान पर विस्तृत चर्चा की।

*वीरेंद्र दुबे ने किसानों की तरह शिक्षाकर्मियों की समस्याओं का भी समाधान लोकसभा चुनाव के पहले समाप्त करने का आग्रह शासन से करते हुए कहा कि उम्मीद करते हैं भाई चन्द्रदेवराय जी विधानसभा और आगामी बजट में हमारी समस्या समाधान को प्रमुखता से रखेंगे।

शिक्षाकर्मी गलियारे में दोनो दिग्गजों की मुलाकात के कई मायने निकाले जा रहे, कुछ इसे सकारात्मक संकेत मान रहे हैं..!
तो कुछ इसे औपचारिक भेंट, किन्तु यह बात जरूर है कि शिक्षाकर्मियो के समस्याओं की अब तक हुई समाधानों में और शासकीयकरण की प्रक्रिया संविलियन तक इन दोनों नेतृत्वकर्ताओं की अहम भूमिका रही है।

About VIDYANAND THAKUR

Leave a reply translated

Translate »