• कांग्रेस नेता नितिन भंसाली के शिकायत पर आबकारी विभाग में करोड़ों रुपयों के भ्रष्टाचार करने वाले समुद्र सिंह के ठिकानों पर तड़के सुबह ईओडब्ल्यू की छापेमारी
  • काशी तुम मंदिरों में होती थी कभी, सड़कों पर हो.. क्या देवता स्वर्ग लोक से लौटे हैं..!!!
  • भूपेश बघेल सरकार के 60 दिन के काम के आगे नही चली
  • श्रीलंका ब्लास्ट आई.एस.आई.एस. का अक्षम्य अपराध – रिजवी
  • पूर्व मुख्यमंत्री के दामाद डॉ. पुनीत गुप्ता डीकेएस अस्पताल घोटाला और ओएसडी अरूण बिसेन की पत्नि का वेतन घोटाला उजागर करने पर मुझ पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है : विकास तिवारी
  • जबलपुर लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी विवेक तनखा के पक्ष में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल लेंगे सभायें

दिल्ली यूनिवर्सिटी के छात्र मोहम्मद आफताब फरीदी दिल्ली से साइकिल पर छत्तीसगढ़ के कोरिया पहुंचे

दिल्ली यूनिवर्सिटी के छात्र मोहम्मद आफताब फरीदी दिल्ली से साइकिल पर छत्तीसगढ़ के कोरिया पहुंचे

देश के सेना के जवानों के सम्मान में दिल्ली से सायकल से चलते हुए छत्तीसगढ़ के कोरिया जिला पहुंचे,गोल्ड मेडलिस्ट आफताब फरीदी पूरे भारत भ्रमण का रिकॉर्ड बना रहे हैं।

यात्रा के 151 दिनों में आफताब के द्वारा 14,000 किलोमीटर की दूरी पूर्ण कर ली गई है।

कोरिया जिले में आज दिल्ली में रहने वाले मोहम्मद आफताब फरीदी जो कि दिल्ली यूनिवर्सिटी के छात्र है ।वह भारत के सभी सेना के जवानों के सम्मान में दिल्ली से सायकल से चलते हुए छत्तीसगढ़ के कोरिया जिले में आये।गोल्ड मेडलिस्ट आफताब फरीदी ने पूरे भारत भ्रमण का रिकॉर्ड बनाने के लिए निकल पड़े है। आइये आज आपको मिलवाते हैं अपने नये दोस्त ‘आफताब’ से। जिन्होंने भारत भ्रमण का संकल्प लिया है, वो भी साइकिल से। अभी तक ये साइकिल से लगभग 14,000 km की यात्रा तय कर चुके हैं। इस बीच आफ़ताब ने बताया कि उनके द्वारा इस साइकिल यात्रा का प्रारंभ रक्षाबंधन के समय से प्रारंभ किया गया था जिसे आज 151 दिन पूर्व हुए हैं।

इन दिनों में आफताब के द्वारा 14,000 किलोमीटर की दूरी पूर्ण कर ली गई है एवं निरंतर यात्रा जारी रखा गया है।आफताब ने बताया उनका यह साइकिलिंग का सफर सिर्फ अपने देश का नाम रोशन करना एवं भारत के सैनिकों के लिए सम्मान की भावना जागृत करना है जब हम आफताब फरीदी जी से मुलाकात किए तो हमें यह भी पता चला कि आफताब की तबीयत भी कई जगह खराब हुई और इसके बावजूद वह अपना साइकिलिंग का सफर पूरे जज्बे के साथ कर रहे हैं।

आपको बता दें कि अफताब की तबीयत खराब है और उनके पास पैसे भी नहीं है , हमसे बातचीत के दौरान यह भी कहा कि जिन लोगों से जो हो सके मुझे मदद करते रहें क्योंकि मेरे पास पैसे नहीं है। और कभी कभी खाने पीने को भी कमी हो जाती है नहीं मिलता है खाने को तो ऐसे ही भूखे रह जाता हूं इसलिए जिन लोगों से हो सके वह मुझे मदद करें।

आफताब जी दिल्ली से है और DU के छात्र है , एक मिडिल क्लास फैमिली से है , और एक नेशनल खिलाड़ी है । इनकी यात्रा 20/08/2018 से शुरू हुई है।

काश हम सब भी आफताब जी जैसा जुनून अपने सर पर लेकर चलते और अपने तिरंगे का और अपने भारत का नाम रोशन करने की तम्मन्ना रखते , उनसे मुलाकात में उन्होंने बताया कि ये सब बस अपने देश के सेना और भारत माँ के सम्मान के लिए ये सब कर रहे हैं।

About VIDYANAND THAKUR

Leave a reply translated

Translate »