• प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी पर देश की जनता की तरह दिल्ली की जनता को भी पूर्ण विश्वास है-मनोज तिवारी
  • ईव्हीएम मशीनों को दोहरे ताले से किया गया सील
  • Gulab ka Sharbat
  • Bel Ka Juice
  • भारतीय अर्थव्यवस्था
  • Garmi Me Piye Istrawberi

छत्तीसगढ़ में गोल्फ का मैदान नहीं फिर भी राजस्थान से 43 पदक जीत लाई छत्तीसगढ़ की टीम

छत्तीसगढ़ में गोल्फ का मैदान नहीं फिर भी राजस्थान से 43 पदक जीत लाई छत्तीसगढ़ की टीम

शिवम कुमार की कलम से

राजस्थान मिनी गोल्फ राष्ट्रीय स्पर्धा में छतीसगढ़ को 45 खिलाड़ियों ने लिया भाग

जिसमें 23 राज्य के कुल 600 से भी अधिक खिलाड़ियों ने किया प्रदर्शन

बिलासपुर-राजस्थान में हो रहे मिनी गोल्फ राष्ट्रीय स्पर्धा में छतीसगढ़ के टीम राजस्थान मेजबानी करने गई थी ।जिसमें छत्तीसगढ़ की टीम ने 45 पदक अपने नाम किया छत्तीसगढ़ के हर जिले से तैयार कर टीम ले जाने वाले कोच भूपेंद्र प्रसाद ने बताया की छत्तीसगढ़ की कोचिंग संस्थान यूनिवर्सिटी एवं कई स्कूलों से छात्र-छात्राओं का चयन कर राजस्थान टूर्नामेंट के लिए ले जाया गया था जिसमें कई स्पर्धा में बालक बालिकाओं ने अच्छे प्रदर्शन कर राज्य को 5 गोल्ड 18 सिल्वर व 20 ब्रांच पदक जीत कर दिया है उन्होंने सभी खिलाड़ियों का प्रदर्शन को लेकर बधाई दी है जिसमें मेजबानी करने गए खिलाड़ियों में उत्साह का माहौल है।

चूँकि अब तक राज्य में गोल्फ खेल के लिए कोई भी सर्वसुविधायुक्त खेल का मैदान नहीं है ऐसे में राज्य में खेल की प्रतिभा दब कर रह जा रही है।राज्य के खिलाड़ियों को सूबे के खेल मंत्री उमेश पटेल से काफी उम्मीदें है जिस कारण खिलाड़ियों द्वारा राज्य में गोल्फ खेल के लिए मैदान की मांग की जा रही है।ऐसे में यह देखना दिलचश्प होगा की क्या खिलाड़ियों के मांग पर खेल मंत्री मैदान की व्यवस्था करते हैं अथवा यूँ ही खिलाड़ियों को खेल मैदान के लिए जूझना पडेगा ये तो आने वाला वक़्त ही बताएगा बहरहाल खिलाड़ियों ने खेल मैदान की मांग के लिए मंत्री महोदय का ध्यानाकर्षण करा दिया है।

खिलाड़ी वंदना मिंज ने बताया की छत्तीसगढ़ में जज्बे की कमी नहीं है हमें अच्छी प्लेटफॉर्म मिल जाए तो अपनी जिम्मेदारी अच्छे ढंग से निभा सकेंगे हमें वहां जाकर अच्छा प्रदर्शन करने का मौका मिला और हमने मेहनत करने में कोई कसर नहीं छोड़ी और हमारी सारी टीम ने छत्तीसगढ़ के नाम 43 पदक किया।अंबिकापुर में खिलाड़ियों ने अपने पैसे से गोल्फ का मैदान बनाने का प्रायास किया है जिसका शुभारम्भ के लिए छत्तीसगढ़ शासन के मंत्री टीएस सिंह देव को बुलाया गया था,उक्त दौरान छत्तीसगढ़ में जज्बे की कमी नहीं है लेकिन खिलाड़ियों को मैदान की कमी सता रही है की बात भी कही गयी थी।

विदित हो की राजस्थान में हो रहे मिनी गोल्फ राष्ट्रीय स्पर्धा में मैच जीतकर खिलाड़ी सीधे खेल मंत्री से मिलने पहुंचे। राजस्थान से मेजबानी कर टीम जब रेलवे स्टेशन बिलासपुर पहुंची तो सभी खिलाड़ियों ने खेल मंत्री से मिलने का योजना बनाया और राज्य के खेल मंत्री उमेश पटेल से मिलने उनके आवास पहुंचे।मुलाक़ात के दौरान खिलाड़ियों ने मैदान ना होने को लेकर अवगत कराया वहीं खेल मंत्री उमेश पटेल ने भी उनको छत्तीसगढ़ में जल्द मैदान उपलब्ध कराने की बात कही बिलासपुर की बैंकिंग कर रही छात्रा वंदना ने अपनी अच्छे प्रदर्शन कर अपने कोचिंग संस्थान का मान बढ़ाया है वहीं छत्तीसगढ़ से गए 45 प्लेयर ने भी अच्छा प्रदर्शन कर कई मेडल छत्तीसगढ़ के नाम किए।

About Prashant Sahay

Leave a reply translated

Translate »