• स्नेहा तुम्हारी जाति क्या है? पहली बार देश में ये माना गया है कि कोई व्यक्ति जाति और धर्मविहीन हो सकता है. सरकार ने इसका सर्टिफिकेट जारी किया है. ये एक बड़ी सामाजिक क्रांति की शुरुआत हो सकती है
  • कलेक्टर से निगम समस्या को लेकर भाजपा पार्षद दल ने की मुलाकात
  • News
  • खाद्य, नागरिक आपूर्ति तथा उपभोक्ता संरक्षण, आवास एवं पर्यावरण, परिवहन एवं वन विभाग के लिए 4469 करोड़ 54 लाख 45 हजार रूपए की अनुदान मांगें ध्वनि मत से पारित
  • आरटीआई कार्यकर्ता राजकुमार मिश्रा को प्रदेश के उच्च व निम्न न्यायिक अधिकारियों के विरुद्ध लंबित विभागीय जांच की जानकारी 30 दिनों के भीतर देने का आदेश
  • जशपुर के पर्यटन एवम पुरातात्विक स्थलों के बारे में प्रदेश में आवाज़ उठाई विधायक यूडी मिंज ने

मतदेय स्थलों पर मतदाताओं की सुविधा हेतु सभी आवश्यक सुविधायें सुनिश्चित की जाय।

मतदेय स्थलों पर मतदाताओं की सुविधा हेतु सभी आवश्यक सुविधायें सुनिश्चित की जाय।

आगरा समाचार

जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी श्री एन0जी0 रवि कुमार ने बताया है कि मुख्य निर्वाचन अधिकारी उ0प्र0 द्वारा लोक सभा सामान्य निर्वाचन 2019 के दृष्टिगत् मतदेय स्थल जिन भवनों में स्थापित हैं वहां पर मतदाताओं की सुविधा हेतु रैम्प, पेयजल, फर्नीचर, प्रकाश, शौचालय व छाया आदि व्यवस्था शत्-प्रतिशत सुनिश्चित करने, मतदान केन्द्रों के भवनों का पुनः सत्यापन कराये जाने हेतु निर्देशित किया गया है।

जिलाधिकारी ने समस्त उप जिलाधिकारियों, अपर नगर मजिस्ट्रेट (प्रथम, द्वितीय, तृतीय) व निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी को निर्देशित किया है कि मतदेय स्थलों के सत्यापन के दौरान वीडियो फोटो भी तैयार कराया जाय। वीडियो ग्राफी करते समय पहुंच मार्ग, आस-पास की स्थिति, बाउन्ड्री वाल, भवन का खुला क्षेत्र व कमरों की संख्या, मतदेय स्थल की वास्तविक स्थिति तथा पेयजल, शौचालय, विद्युत, फर्नीचर, रैम्प, छाया (शैड) आदि उपलब्धता की भी वीडियोग्राफी की जाय। मतदेय स्थल पर अंकित विधानसभा का नाम व संख्या, स्थल का नम्बर व नाम बी0एल0ओ0 का नाम/नम्बर को स्पष्ट करने की सूचना की फोटोग्राफी की जाय। वीडियो अभिलेखों की एक सी0डी0 बनाकर मुख्य रिर्पोट के तौर पर सुरक्षित रखी जाय। आयोग के निर्देशानुसार केन्द्र/राज्य सरकार की योजनाओं के अन्तर्गत चल रहे विभिन्न कार्यक्रमों का सहयोग प्राप्त कर मतदेय स्थलों पर रैम्प, बिजली/छोटा गेट, वाउन्ड्री पेयजल, शौचालय आदि सुविधाओं को पूर्ण करा लिया जाय।

जिलाधिकारी ने उक्त अधिकारियों को निर्देशित किया है कि अपने-अपने विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के मतदान केन्द्र के भवनों का स्वयं सत्यापन करना सुनिश्चित करें कि उक्त मतदेय स्थल का भवन मतदान के लिए उपयुक्त है, यदि मतदान के लिए भवन उपयुक्त नहीं है, तो इस सम्बन्ध में कोई सरकारी भवन अथवा प्राइवेट जो किसी राजनैतिक दल से सम्बद्ध न हो, को चिन्हित करते हुए उसका प्रस्ताव अलग से तैयार करें। यह कार्य अति महत्वपूर्ण है इस पर सर्वोच्च प्राथमिकता प्रदान की जाय। मतदान केन्द्रों का भौतिक सत्यापन का कार्य प्रत्येक दशा में दिनांक 25 दिसम्बर 2018 तक पूर्ण करा लिया जाय।

About VIDYANAND THAKUR

Leave a reply translated

Your email address will not be published. Required fields are marked *