रमन सिंह के ज़ुकाम को क्या नाम दें..?

रमन सिंह के  ज़ुकाम को  क्या नाम दें..?

नितिन राजीव सिन्हा

नान घोटाला बिहार के चारा घोटाले की तर्ज़ पर हुआ छत्तीसगढ़ का पीडीएस घोटाले का पूरक है जिसमें रमन सिंह का कुनबा आरोपी है सीएम मैडम,सीएम सिस्टर इन लॉ,सीएम का ससुराल सतना वाले भैया,सी एम हाउस के ड्राइवर और रसोईया तक रकम कथित रूप से पहुँचती रही यह सब डायरी में दर्ज है..,

कल मुख्य मंत्री भूपेश बघेल ने कहा था कि मैंने फ़ाइल पर से धूल झाड़ी है जिस पर रमन सिंह ने पलटवार करते हुए कहा है कि मैंने भी कुछ काग़ज़ों की धूल झाड़ी है जिसमें दोनों आई॰ए.एस. आलोक शुक्ला और अनिल टूटेजा पर कार्यवाही करने,उन्हें गिरफ़्तार करने प्रधान मंत्री को पत्र भूपेश बघेल और टीएस सिंहदेव दोनों ने लिखे थे,आज उसी अफ़सर के अभ्यावेदन पर सरकार एसआईटी बना रही है..,

रमन सिंह कह रहे हैं कि डायरी का अस्तित्व ही नहीं है..,उनका यह कहना बताता है कि रमन सिंह ने लालू यादव की जेल यात्रा का संज्ञान ले लिया है और यह बेहतर जान लिया है कि क़ानून के हाथ लंबे होते हैं कल तक जो लोगों की नब्ज़ देख कर सरकार चला लिया करते थे उन्हें काग़ज़ों पर पड़ी हुई धूल झाड़ने पर ज़ुकाम हो गया है आँखों से पानी बह रहा है..,

रमन सिंह कह रहे हैं बदले की कार्यवाही हो रही है ठीक ही कह रहे हैं पत्रकार और सीएम के राजनीतिक सलाहकार विनोद वर्मा जेल भेजे गये थे भूपेश भी जेल भेजे गये..,

फ़िज़ा बदली है सूत्रों का दावा है कि कांग्रेस सरकार जेलों के उन्नयन पर कार्ययोजना बनाकर काम कर सकती है ताकि कुनबे की ख़ातिरदारी में कहीं कमी न रह जाये..,कुनबा परस्त रमन सिंह पर लिखना होगा कि-

हाथों की

लकीरों ने

साथ छोड़ा

है,क़िस्मत

का लेखा

है कभी

नाँव पर

कभी नावँ

काँधे पर..,

About VIDYANAND THAKUR

Leave a reply translated

Your email address will not be published. Required fields are marked *