• आदिवासी छात्राओं द्वारा रेंगकर मांगने वाली छात्रवृत्ति मामला : सरगुजा के जी.एन.एम. नर्सिंग प्रशिक्षणरत आदिवासी छात्राओं के लिए 51.20 लाख रूपए आबंटित
  • बेलगाँव में शराब दुकान का विरोध करते अमित जोगी गाँव की महिलाओं के साथ गिरफ़्तार; दुकान बंद करने के लिखित आदेश के बाद सबको निशर्त छोड़ा गया।
  • बारिश से पहले नाला व नालियों की हो सफाई – रोशनलाल
  • मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की माता श्रीमती बिंदेश्वरी बघेल का मेडिकल बुलेटिन जारी,स्थिति नाजुक-अगले 24 घंटे बेहद महत्वपूर्ण
  • मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की माता श्रीमती बिंदेश्वरी बघेल का मेडिकल बुलेटिन-(24 जून समय-7:00 शाम)
  • कोरिया: दवाइयों से लैस दो चलित अस्पताल वाहनों को विधायक और कलेक्टर ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया..

लोकसभा में ऑडियो प्ले करने राहुल के इजाजत मांगने पर हंगामा

लोकसभा में ऑडियो प्ले करने राहुल के इजाजत मांगने पर हंगामा

नयी दिल्ली- लोकसभा में राफेल मुद्दे पर चर्चा के दौरान उस समय नाटकीय घटनाक्रम देखने को मिला जब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गोवा के एक मंत्री का राफेल विमान सौदे से संबंधित कथित बातचीत का वीडियो चलाने की अनुमति अध्यक्ष से मांगी, लेकिन आसन द्वारा नियमों का हवाला देते हुए इसकी इजाजत उन्हें नहीं दी गयी। निचले सदन में राफेल मामले की चर्चा की शुरुआत के दौरान गांधी ने कहा कि वह राफेल से जुड़ा गोवा के एक मंत्री की बातचीत का ऑडियो प्ले करने की इजाजत चाहते हैं। इस पर लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने कहा कि वह ऑडियो सदन में प्ले नहीं कर सकते। गांधी ने कहा कि क्या वह ऑडियो का लिखित ब्यौरा पढ़ सकते हैं? इस दौरान सत्तापक्ष के सदस्यों ने ऑडियो प्ले करने या लिखित ब्यौरा पढऩे की गांधी की कोशिश का कड़ा विरोध किया और फिर दोनों तरफ से तीखी नोंकझोंक देखने को मिली। वित्त मंत्री अरूण जेटली ने विरोध करते हुए कहा कि पिछले बार जब राहुल गांधी ने फ्रांस के राष्ट्रपति से संबंधित बयान का जिक्र किया था तब वहां के राष्ट्रपति ने उनके बात का खंडन किया था । इस बार एक वीडियो का जिक्र कर रहे हैं । क्या उस वीडियो की पुष्टि करते हैं ? या फिर यह विशेषाधिकार हनन और सदन से निष्कासन का मामला भी बनता है। लोकसभा अध्यक्ष ने राहुल गांधी पहले इस ऑडियो को सत्यापित करें। गांधी ने कहा कि वह अगर सत्तापक्ष के लोगों की खुशी इसी में है तो वह ऑडियो प्ले नहीं करेंगे। इस पर जेटली ने कहा कि यह ऑडियो झूठा है, इसलिए कांग्रेस अध्यक्ष ने इसकी पुष्टि नहीं की। इस दौरान हंगामे के कारण सदन की कार्यवाही करीब पांच मिनट के लिए स्थगित करनी पड़ी।

About Prashant Sahay

Leave a reply translated