• मोदी कॉलेज में थे तब अपनी वाक् पटुता की वजह से लड़कियों को प्रिय थे..!!!
  • रायगढ़ लोकसभा के लिए कुमार देवेन्द्र प्रताप की दावेदारी प्रबल
  • आज होलिका दहन, बुराई पर अच्‍छाई की जीत का त्‍योहार होली
  • प्रेस लिखा रेस्टोरेंट मालिक का लक्ज़री कार अवैध शराब का परिवहन करते दूसरी बार पकड़ाया
  • ट्रेक्टर फायनेंस की राशि जमा करने आए शख्स को निजी बैंक के असिस्टेंट मैनेजर ने स्टाफ सहित मिलकर पीटा
  • चिरमिरी के राहुल भाई पटेल बने एनएसयुआई.के प्रदेश सचिव

सरकार मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना और वरिष्ठ नागरिक होने की पात्रता होने के बावजूद मरीजों से वसूल रही पैसा और प्राइवेट अस्पतालों से दादागिरी जारी है…,

सरकार मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना और वरिष्ठ नागरिक होने की पात्रता होने के बावजूद मरीजों से वसूल रही पैसा और प्राइवेट अस्पतालों से दादागिरी जारी है…,

छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी चिकित्सा प्रकोष्ठ के अध्यक्ष डॉक्टर राकेश गुप्ता ने मय सबूत एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा है कि प्रदेश के सबसे बड़े अस्पताल डॉक्टर भीमराव अंबेडकर अस्पताल में मरीजों की पात्रता होने के बावजूद उनसे शुल्क वसूला जा रहा है, निशुल्क होने की पात्रता होने के बावजूद मरीजों से अलग अलग मदों में पैसा लिया जाता है जबकि मरीज के पास पात्रता के सभी प्रमाण पत्र मौजूद हैं.

ऐसा ही मरीज फिरता राम साहू पिता आशा राम साहू 65 years 12 नवंबर 2018 को देखा गया, जिसके पास ना केवल वरिष्ठ नागरिक होने की पात्रता थी और उसे फ्री मरीज के रूप में रजिस्टर किया गया. सोनडोंगरी निवासी श्री फिरता राम साहू को अस्थि रोग विभाग में देखा गया उससे एमआरआई के ₹3500 वसूल किए गए

और मरीज के पास ना केवल वरिष्ठ नागरिक होने का प्रमाण पत्र था बल्कि मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना का स्वयं के नाम से कार्ड नंबर 21 03225 007 670 और इससे यह साबित होता है कि सरकार का स्वास्थ्य विभाग कितना ज्यादा निरंकुश हो गया है .छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के चिकित्सा प्रकोष्ठ के अध्यक्ष डॉक्टर राकेश गुप्ता ने आरोप लगाया है कि सरकार अपने अस्पतालों में मरीजों को मुफ्त इलाज नहीं दे पा रही और प्राइवेट अस्पतालों के साथ पूरे प्रदेश भर में दादागिरी कर के अल्टीमेटम दे रही है जबकि सरकार का यह नैतिक दायित्व है कि पात्र मरीजों को न केवल पूरी चिकित्सा सुविधा दे बल्कि सभी प्रदेश के नागरिकों को मुफ्त चिकित्सा उपलब्ध कराएं .उन्होंने कहा है कि सरकारी अस्पताल की व्यवस्थाएं चरमरा गई है और सरकार अपनी स्वास्थ्य व्यवस्था, प्राइवेट अस्पतालों के भरोसे छोड़ कर आत्म मुग्ध मुद्रा में उनको प्रताड़ित कर रही है. उन्होंने चेतावनी दी है कि स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी अपना रवैया सुधारे अन्यथा आने वाले दिनों में प्रतिदिन वह स्वास्थ्य व्यवस्था की पोल धीरे धीरे खोलेंगे इससे न केवल सरकार को जवाब देना मुश्किल हो जाएगा बल्कि वह नहीं चाहते कि सरकार की स्वास्थ्य व्यवस्थाओं की अवस्था और विश्वसनीयता निकृष्ट स्तर पर पहुंचे. उन्होंने भारतीय जनता पार्टी की सरकार को आगाह किया है कि कि पिछले 15 वर्षों में उन्होंने स्वास्थ्य व्यवस्थाओं को इतने निचले स्तर तक पहुंचा दिया है कि उन्हें सुधार पाना न केवल करीब करीब असंभव है बल्कि विश्वसनीयता को सुधारने में वर्षों लग जाएंगे . अभी तक स्मार्ट कार्ड और दूसरी योजनाओं को प्राइवेट अस्पतालों के भरोसे छोड़ दिया गया है और जिस प्रकार की प्रताड़ना और दादागिरी के शिकार प्राइवेट अस्पताल हो रहे हैं वह ना केवल निंदनीय है बल्कि सोच नीय भी है. आयुष्मान योजना के असहयोग और पुराने भुगतान को लेकर आंदोलन की राह में खड़े सभी प्राइवेट अस्पतालों को दिए गए अल्टीमेटम की धमकी का जिक्र करते हुए डॉ राकेश गुप्ता ने कहा है कि जिस प्रकार की प्रताड़ना भरी चिट्ठी सभी अस्पतालों को जारी की गई है वह हिटलर शाही की याद दिलाती है .उन्होंने चेतावनी दी है कि स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी अपना रवैया सुधारें और जिस प्रकार वह अल्टीमेटम दे रहे हैं वह आपसी संवाद और विश्वास को और कम करेगा।

डॉ राकेश गुप्ता,
अध्यक्ष ,चिकित्सा प्रकोष्ठ,
छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी

———————————————————-

About VIDYANAND THAKUR

Leave a reply translated